भुवनेश्वर कुमार (5 विकेट) के बाद विराट कोहली (110*) के शतक की मदद से टीम इंडिया ने रविवार को श्रीलंका को वन-डे सीरीज के पांचवें व अंतिम वन-डे में 6 विकेट से हराकर इतिहास रच दिया। विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम इंडिया ने पहली बार श्रीलंका का उसी की धरती पर वन-डे सीरीज में क्लीन स्वीप किया। 
टीम इंडिया विश्व की पहली ऐसी टीम बन गई है, जिसने श्रीलंका का उसकी की धरती पर 5-0 से सफाया किया। अब दोनों देशों के बीच एकमात्र टी20 इंटरनेशनल मैच बुधवार को खेला जाएगा। बता दें कि टीम इंडिया ने श्रीलंका दौरे पर पहले टेस्ट सीरीज में 3-0 से क्लीन स्वीप किया और इसके बाद वन-डे सीरीज 5-0 से अपने नाम की।

श्रीलंका ने कोलंबो के आर प्रेमदासा स्टेडियम में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और उसकी पूरी टीम 49.4 ओवर में 238 रन बनाकर ऑलआउट हुई। जवाब में टीम इंडिया ने ओवर में विकेट खोकर लक्ष्य हासिल किया। कोहली के साथ एमएस धोनी 1 रन बनाकर नाबाद रहे। मैच में 9.4 ओवर में 42 रन देकर 5 विकेट लेने वाले टीम इंडिया के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को मन ऑफ द मैच और सीरीज में कुल 15 विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।

श्रीलंका द्वारा मिले 239 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत बेहद खराब रही। अजिंक्य रहाणे (5) और रोहित शर्मा (16) जल्दी-जल्दी आउट हुए। इसके बाद कप्तान कोहली ने मनीष पांडे (36) के साथ तीसरे विकेट के लिए 99 रन जोड़े। पांडे ने पुष्पकुमारा की गेंद पर आड़े बल्ले से शॉट खेला और गेंद हवा में चली गई। थरंगा ने मिडविकेट पर उनका आसान कैच लपका। 

यहां से कप्तान कोहली ने जीत के बेहद करीब पहुंचा दिया। दोनों ने चौथे विकेट के लिए रन की साझेदारी की। टीम इंडिया जब जीत से दो रन दूर थी, तब जाधव को धनंजय डी सिल्वा ने विकेटकीपर डिकवेला के हाथों की शोभा बनाया। जाधव ने 73 गेंदों में 7 चौको की मदद से 63 रन बनाए।कोहली ने अपनी पारी में 116 गेंदों में 9 चौको की मदद से वन-डे करियर का 30वां शतक जमाया। इसी के साथ वो वन-डे में सबसे ज्यादा शतक जमाने के मामले में रिकी पोंटिंग की बराबरी पर पहुंच गए हैं। इसके अलावा श्रीलंका के खिलाफ सबसे ज्यादा शतक जमाने के मामले में वो सचिन तेंदुलकर की बराबरी पर पहुंच गए हैं। अब सचिन और विराट दोनों ने श्रीलंका के खिलाफ 8-8 शतक जमाए। 

इससे पहले श्रीलंका की पूरी टीम 49।2 ओवर में 238 रन बनाकर ऑलआउट हुई। टीम इंडिया की ओर से सबसे सफल गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार रहे। उन्होंने 42 रन देकर पांच विकेट हासिल किए। वहीं बुमराह ने 2, कुलदीप और चहल ने 1-1 विकेट हासिल किया। श्रीलंका ने अपने आखिरी 7 विकेट 53 रन पर गंवा दिए। 

लहिरू थिरामाने श्रीलंका के सबसे सफल बल्लेबाज रहे। उन्होंने 102 गेंद पर 67 रन की पारी खेली। वहीं एंजेलो मैथ्यूज ने 55 रन बनाए। इन दोनों ने चौथे विकेट के लिए 133 रन की साझेदारी कर श्रीलंकाई पारी को संभाला। लेकिन जैसे ही थिरामाने आउट हुए उसके बाद विकेटों की झड़ी लग गई। 

भुवनेश्वर कुमार ने निरोशन डिकवेला (2), दिलशान मुनावीरा (4), लहिरू थिरामाने (67), मिलिंडा सिरिवर्दना (18) और लसिथ मलिंगा (2) को अपना शिकार जमाया। वहीं बुमराह ने श्रीलंका के कप्तान उपुल थरंगा (48) और मलिंडा पुष्पकुमारा (8) को अपना शिकार बनाया।