नई दिल्ली
आरबीआई ने करीब एक हफ्ता पहले 200 रुपये का नया नोट लॉन्च कर दिया है। बताया जा रहा है कि इस नोट को एटीएम तक पहुंचने में तीन महीने तक का समय लग सकता है। एटीएम को नए नोट के लिए तैयार किया जा रहा है।

कुछ बैंकों ने अपनी एटीएम कंपनियों मशीनों में नए नोट के लिए टेस्टिंग करने का निर्देश दिया है, हालांकि उनके पास नए नोट की खेप अभी तक नहीं पहुंची है। बता दें कि इससे पहले नोटबंदी के बाद 500 और 2000 रुपये के नए नोटों के लिए एटीएम में बदलाव कर उन्हें नए नोटों के लिए तैयार किया गया था।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने यह कहते हुए एक बयान जारी किया कि 200 रुपये के नए नोट की सप्लाई जल्द शुरू हो जाएगी। लेकिन, रिजर्व बैंक की तरफ से इसे लेकर अभी तक कोई खास जानकारी नहीं दी गई है।

एटीएम मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों का कहना है कि उन्हें अभी तक आरबीआई की तरफ से नए नोट के लिए एटीएम में बदलाव करने के बारे में कोई निर्देश नहीं मिला है। उन्होंने बताया कि कुछ बैंकों ने शुरुआती जानकारी के आधार पर अपनी एटीएम कंपनियों से नए नोटों के टेस्टिंग करने के लिए कहा है, 200 रुपये के नोटों का साइज काफी अलग है।

बता दें कि देश भर में करीब 2.25 लाख एटीएम में नए नोट के लिए बदलाव किए जाने हैं।

एजीएस ट्रांजेक्ट टेक्नॉलजीज लिमिटेड के चेयरमैन और एमडी रवि बी गोयल ने कहा, 'आरबीआई से निर्देश मिलने के बाद देश भर की मशीनों में बदलाव कर दिए जाएंगे। नए नोट का साइज बाकी नोटों से थोड़ा अलग है, ऐसे में जैसे ही हमें नए नोट मिलेंगे, हमें उनका साइज समझना होगा और मशीनों को उनके मुताबिक तैयार करना होगा। इसके अलावा हमें यह भी देखना होगा कि नए नोटों की सप्लाई पर्याप्त मात्रा में हो रही है या नहीं।'

उन्होंने कहा, ' मशीनों को नए नोटों के लिए पूरी तरह तैयार करने में 90 दिनों का समय लगेगा, हालांकि इस दौरान एटीएम को बंद नहीं किया जाएगा, लोगों के लिए एटीएम उसी तरह चलते रहेंगे जैसे कि अभी चल रहे हैं। एटीएम इस दौरान पूरी तरह ऑपरेशनल होंगे।'