विश्व की शीर्ष कंपनीज सोमवार को विभिन्न अधिकारों को खरीदने के लिए अपना पूरा जोर लगा रही हैं. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मीडिया राइट्स की नीलामी मुंबई में शुरू हो चुकी है। 24 आईटीटी में से सिर्फ 14 ने ही आईपीएल के मीडिया राइट्स नीलामी में हिस्सा लिया। याहू, अमेजन और ईएसपीएन डिजिटल ने बनाई दूरी।
 
मीडिया राइट्स नीलामी मुंबई के एक फाइव स्टार होटल में सुबह 9 बजकर 30 मिनट पर शुरू होने की उम्मीद है। इसमें दिग्गज कंपनीज अगले पांच सालों के लिए इस टूर्नामेंट के प्रसारण अधिकार खरीदेंगी। 

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने उम्मीद है कि मीडिया राइट्स की नीलामी के दौरान अप्रत्याशित बोली लग सकती है। हितों के टकराव के कारण आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला ने अपने आप को इस प्रक्रिया से अलग कर लिया है।

मीडिया राइट्स (अधिकारों) को टीवी और डिजिटल की श्रेणियों में बांटा गया है। बीसीसीआई को उम्मीद है कि 2018 से 2022 तक के लिए दिए जाने वाले इन राइट्स की बोली से बोर्ड की 20 हजार करोड़ रुपए की कमाई होगी।  

इसमें भारतीय उपमहाद्वीप के लिए टीवी अधिकार के साथ तेजी से बढ़ते डिजिटल मीडिया के लिए अधिकारों की बोली भी शामिल है। इसके अलावा पश्चिम एशिया, अफ्रीका, यूरोप, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड जैसे प्रमुख इंटरनेशनल मार्केट के साथ वैश्विक टीवी मीडिया अधिकार शामिल है। 

आईपीएल के डिजिटल राइट्स की दौड़ में एयरटेल और रिलायंस जियो के बीच मुख्य मुकाबला हो सकता है। पिछली बार यह अधिकार 2015 में तीन वर्षों के लिये नोवा डिजिटल ने 302।2 करोड़ रुपये में खरीद था।  

इस बोली में शामिल होने के लिये पिछले साल 18 कंपनियों ने दस्तावेज खरीदे थे, इन कंपनियों में स्टार इंडिया, अमेजन सेलर्स र्सिवसेज, फॉलोऑन इंटरेक्टिव मीडिया, ताज टीवी इंडिया, सोनी पिक्चर्स नेटवक्र्स, टाइम्स इंटरनेट, सुपरस्पोर्ट इंटरनेशनल, रिलायंस जियो डिजिटल, गल्फ डीटीएच एफजेड एलएलसी, ग्रुप एम मीडिया, बी इन, ईकोनेट मीडिया, स्काई यूके, ईएसपीएन डिजिटल मीडिया, बीटीजी लीगल र्सिवसेज, बीटी पीएलसी, ट्विटर और फेसबुक इंक शामिल है।