कहा- कोई नहीं जानता कौन जोकर कब राजा बन जाए

नई दिल्ली। एनडीए की सहयोगी शिवसेना ने रविवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल के बहु प्रतीक्षित विस्तार पर नाराजगी जताते हुए मोदी सरकार पर हमला बोला है। सामना लेख में कहा गया है कि अबतक कोई भी मंत्री जनता की आकांक्षाओं पर खरा नहीं उतर पाया है। देश को अभी भी 'अच्छे दिन' का इंतजार है। लेख में मोदी सरकार पर तंज करते हुए कहा गया है कि पता नहीं कौन जोकर कब राजा बन जाए।

हड़बड़ी में किया गया मंत्रिमंडल में फेरबदल
संपादकीय में कहा गया है कि पीएम नरेंद्र मोदी की चीन यात्रा से पहले हड़बड़ी में मंत्रिमंडल में फेरबदल किया गया है। लेख में बीजेपी पर करारा प्रहार किया गया है कि मंत्रिमंडल विस्तार प्लेइंग कार्ड के समान है। इसमें कोई नहीं जानता कब कौन जोकर राजा बन जाए। हम पीएम मोदी की चीन यात्रा और कैबिनेट विस्तार की बात भी नहीं समझ पाए हैं। ऐसा क्यों किया गया? क्या चीन इस बात से नाराज हो जाता अगर पीएम मोदी के पास नए मंत्रियों की सूची नहीं होती। पीएम चीन यात्रा के बाद भी मंत्रिमंडल में फेरबदल कर सकते थे। लेख में कहा गया है कि अब तक कोई भी मंत्री जनता की आकांक्षाओं पर खरा नहीं उतर पाया है। देश को अभी भी 'अच्छे दिन' का इंतजार है।

मोदी मंत्रिमंडल में चार कैबिनेट, नौ राज्य मंत्री शामिल
गौरतलब है कि मोदी ने अपने मंत्रिपरिषद का बहुप्रतीक्षित विस्तार किया जिसमें नौ नए चेहरों को शामिल किया गया और चार मंत्रियों धर्मेन्द्र प्रधान, पीयूष गोयल, निर्मला सीतारमण और मुख्तार अब्बास नकवी को कैबिनेट मंत्री के रूप में पदोन्नति मिली। मंत्रिपरिषद विस्तार में अश्विनी कुमार चौबे, वीरेंद्र कुमार, शिव प्रताप शुक्ला, अनंत कुमार हेगड़े (कर्नाटक), राज कुमार सिंह, हरदीप पुरी, गजेंद्र सिंह शेखावत, सत्यपाल सिंह और के जे एल्फॉस ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली।