रिलायंस जियो ने शानदार सफलता के साथ अपना एक साल पूरा कर लिया है. जियो के पास 800 MHz, 1800 MHz और 2300 MHz बैंड्स में LTE स्पेक्ट्रम हैं. जियो के पास किसी दूसरी टेलीकॉम कंपनी के मुकाबले भारत में सबसे व्यापक LTE कवरेज है.

मोबाइल डेटा कंज्म्पशन में तेज बढ़ोतरी
मार्केट में जियो की एंट्री के साथ भारत में मोबाइल डेटा कंज्म्पशन (मोबाइल पर डेटा की खपत) में बड़ा बदलाव देखने को मिला है. जहां पहले एक महीने में मोबाइल डेटा कंज्म्पशन 20 करोड़ GB था. अब यह एक महीने में बढ़कर 150 करोड़ GB से ज्यादा हो गया है. इस डेटा में से अकेले जियो के कस्टमर्स 125 करोड़ GB डेटा की खपत कर रहे हैं.

जियो नेटवर्क पर 130 मिलियन से ज्यादा कस्टमर्स

मोबाइल डेटा कंज्म्पशन के मामले में भारत 155वें पायदान से अब दुनिया में पहली पोजिशन पर पहुंच गया है. जियो, दुनिया का पहला और इकलौता एक्साबाइट टेलीकॉम नेटवर्क है. इसकी वीडियो स्ट्रीमिंग हर महीने 165 करोड़ घंटे से अधिक है. वहीं, एक महीने में वॉयस टैरिफ 250 करोड़ मिनट से ज्यादा है. जियो ने हर सेकेंड में 7 कस्टमर्स जोड़े हैं और महज 170 दिनों में कस्टमर्स की संख्या 100 मिलियन हो गई. मौजूदा समय में जियो नेटवर्क पर 130 मिलियन से ज्यादा कस्टमर्स हैं.

टैरिफ हुए सस्ते
टैरिफ बहुत अधिक किफायती हुए हैं. जियो के लॉन्च के समय टैरिफ 250-4000 रुपये प्रति GB पर थे, जो कि मौजूदा समय में 50 रुपये प्रति GB से कम पर हैं. जियो के यूजर को हर महीने प्रति GB के लिए कहीं कम भुगतान करना होता है. मौजूदा 399 रुपये के प्लान के तहत यूजर्स को 84 दिनों के लिए हर दिन 1 GB का हाई स्पीड डेटा ऑफर किया जाता है. ट्राई के SpeedTest पोर्टल ने कवरेज, यूजेज और डेटा स्पीड के मामले में जियो की लगातार 4G नेटवर्क लीडर के रूप में रैंकिंग की है.