होमवर्क बच्चों को सिर्फ स्कूल और पढ़ाई-लिखाई में मजबूत नहीं करता, इससे बच्चे अनुशासन भी सीखते हैं. होमवर्क करते हुए वे इंस्ट्रक्शन फॉलो करना सीखते हैं. तय समय में सारा काम कैसे खत्म करना है, ये भी होमवर्क से सीखा जा सकता है. हालांकि बच्चे अक्सर होमवर्क करने में आनाकानी करते हैं. हम आपसे शेयर कर रहे हैं, ऐसे कुछ तरीके, जिससे बच्चा खुद अपना होमवर्क करने लगेगा.

जगह तय करें

बच्चों के लिए होमवर्क की जगह तय करें. इससे वे बार-बार यहां से वहां घूमते नहीं रहेंगे. उनके पास पढ़ाई के लिए माहौल भी जुटेगा. होमवर्क की जगह पर स्टडी टेबल, शेल्फ रख दें. कोई मेहमान भी आए तो अगर बच्चों की पढ़ाई का वक्त हो तो उस जगह पर न जानें दें.

तय करें वक्त

रोज के असाइनमेंट के लिए एक वक्त तय कर दें. उस वक्त पर बच्चा कोई दूसरा काम न करे, बल्कि केवल होमवर्क करे. वक्त बच्चों से पूछकर ही तय करें ताकि वो उस समय मन लगाकर पढ़ सके. जैसे कई बच्चे खेलने के बाद ही पढ़ पाते हैं.

नियम तय करने दें

बच्चों के साथ होमवर्क कराने का मतलब ये नहीं है कि आप साथ बैठकर उनके सारे काम कर दें. उन्हें लीड करने दें. आप केवल उतनी ही मदद करें, जो बहुत जरूरी हो. होमवर्क के निर्देश उन्हें जोर से पढ़ने को कहें, इससे उन्हें समझ आएगा कि क्या करना है.