एनआरडीए में कर्मचारी भविष्य निधि को लेकर जागरूकता कार्यशाला
रायपुर।
नया रायपुर क्षेत्र में लगे विभिन्न प्लेसमेंट एजेंसियों, निर्माण एजेंसियों तथा सलाहकार संस्थाओं को कर्मचारी भविष्य निधि खातों के बेहतर संधारण और संचालन के संबंध में जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया गया।
पर्यावास भवन स्थित नया रायपुर डेव्हलपमेंट अथॉरिटी कार्यालय में आयोजित कार्यशाला में कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के क्षेत्रीय सहायक आयुक्त बिपिन बिहारी ने ईपीएफ के बढ़ते महत्व और नियोक्ता को इस दिशा में सजगता बरतने संबंधी जानकारियाँ साझा की।  उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार श्रमिकों और असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के भविष्य निधि के मामलों और उनके अधिकारों को लगातार प्रमुखता प्रदान कर रही है। इसके उल्लंघन होने की स्थिति में कड़े दण्ड के प्रावधान हैं। उन्होंने बताया कि कैसे आज ईपीएफ के सारे मामले आनलाइन होने से छोटे से छोटा नियोक्ता भविष्य निधि कार्यालयों की निगरानी में होता है जिससे खाताधारकों के हितों का पूरा ख्याल रखा जाता है।
कार्यशाला में मौजूद प्रतिनिधियों को ईपीएफ से संबंधित संक्षिप्त प्रस्तुतिकरण दिया गया। इस दौरान प्रतिनिधियों की शंकाओं और इससे जुड़े विभिन्न सवालों का समाधान भी किया गया। कार्यशाला में ईपीएफ के प्रवर्तन अधिकारी संतोष असारिया ने बताया कि आज कर्मचारियों के संस्थान और कंपनी बदलने पर अपना पंजीयन क्रमांक बदलने की जरूरत नहीं बल्कि बहुत ही कम औपचारिकता से इसे नए नियोक्ता को शिफ्ट किया जा सकता है।
कार्यशाला में मौजूद एनआरडीए के प्रबंधक (प्रशासन) श्री विश्वास मेश्राम ने बताया कि एनआरडीए से संबंधित जितने भी संस्थान और एजेंसियाँ हैं उन्हें ईपीएफ समेत कर्मचारियों के हितों वाले सभी विषय में अधिक संवेदनशील और सतर्क रहने को प्रेरित किया जाता है। उल्लेखनीय है कि नया रायपुर में विगत वर्षों में सभी प्रमुख शासकीय कार्यालयों के साथ कई अन्य संस्थानों का संचालन शुरू हुआ है साथ ही कई निर्माण कार्य नया रायपुर में कराए जा रहे हैं। इनमें एनआरडीए के माध्यम से कई एजेंसियाँ कार्यरत हैं। ऐसे में इनके माध्यम से कार्य कर रहे कर्मचारियों एवं श्रमिकों के हितों को लेकर सजगता बनाए रखने के प्रयास किए जाते रहे हैं।