भागलपुर: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने बहुचर्चित सृजन घोटाले को लेकर पार्टी की ओर से आयोजित एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि नीतीश कुर्सी के लिए कुछ भी कर सकते हैं। सत्ता की लालच के कारण ही उन्होंने भाजपा के साथ हाथ मिलाया है। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता आज नहीं तो कल तेजस्वी को अपना मुख्यमंत्री चुनेगी। लालू ने कहा कि मोदी की घुड़कियों से वह डरनेवाले नहीं हैं चाहे वे सीबीआई का भय दिखाए, चाहे मेरे परिवार पर मुकदमा दर्ज करवाये। इससे कोई फर्क पडऩे वाला नहीं है। 

‘भाजपा भगाओ, देश बचाओ’ आंदोलन रहेगा जारी 
उन्होंने कहा कि सृजन घोटाला के खिलाफ भागलपुर की रैली और आमसभा को रोकने के लिए सीबीआई का इस्तेमाल किया गया। सीबीआई से समन भिजवाकर उन्हें दिल्ली बुलाया जा रहा था लेकिन उन्होंने इंकार कर यहां के लोगों को सृजन घोटाले की असलियत बताने आया हूं। उन्होंने कहा कि यह सृजन घोटाला एक महाघोटाला है और इससे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का चेहरा बेनकाब हो गया है। राजद अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी का ‘भाजपा भगाओ, देश बचाओ’ आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि सृजन घोटाले की सरकारी राशि का पाई-पाई का हिसाब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को देना होगा। 

इस मामले में नीतीश, सुशील मोदी और केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे पर भी मुकदमा दर्ज होना चाहिए। उन्होंने कहा कि सृजन घोटाले के मामले में इन तीनों लोगों को संरक्षण देने और बचाने का काम किया जा रहा है। लालू ने कहा कि सीबीआई को इस पर ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा कि वह नीतीश से जानना चाहते हैं कि वे अपने भागलपुर दौरे के दौरान सर्किट हाउस में नहीं रह कर किसी मिश्रा जी के घर पर हमेशा कयों रहते थे।