रामगंज में बवाल के बाद जयपुर शहर के चार थाना इलाकों में अब भी कर्फ्यू जारी है. इंटरनेट सुविधा पूरी तरह से बंद है. इस दौरान हालात पूरी तरह से काबू में हैं.

शांतिपूर्ण हालात बनाए रखने के लिए प्रयास जारी हैं. इस दौरान रविवार को दूध और सब्जी समेत खाद्य पदार्थों को लेकर कर्फ्यू प्रभावित इलाकों में लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा.

हालांकि, पुलिस की ओर से चार थाना इलाकों में जयपुर डेयरी की चार गाड़ियों से सप्लाई की गई, लेकिन चार दिवारी मौजूद लाखों की आबादी को उसके खाने की चीजों की किल्लत का सामना करना पड़ा.

हालात को लेकर पुलिस मानना है कि रविवार देर शाम ये तय किया जाएगा कि कर्फ्यू और इंटरनेट सेवाओं का अवरोध कब तक जारी रखा जाएगा. रविवार को जयपुर कलेक्टर और पुलिस कमिश्नर रामगंज थाने पर मौजूद रहे.

इस दौरान रामगंज बवाल में मारे गए युवक के पोस्टमाटर्म और उसे सुपुर्द-ए-खाक कराने को लेकर प्रयास जारी रहे. मामले को लेकर गठित की गई 25 सदस्यों की समिति ने मुस्लिम मुसाफिर खाने में चर्चा की और अपनी मांगों को लेकर उन्होंने पुलिस कमिश्नर और कलेक्टर से वार्ता भी की.

आपको बता दें कि आपको बता दें कि शुक्रवार रात 1 बजे से जयपुर के चार थाना इलाकों में कर्फ्यू लगा हुआ है. यहां रामगंज थाना इलाके में शुक्रवार रात अचानक तनाव का माहौल पैदा गया था और इसके बाद सुभाष चौक, माणक चौक, रामगंज और गलता गेट थाना क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया गया.

सम्भागीय आयुक्त राजेश्वर सिंह ने इस संबंध में एक आदेश जारी किया था. इस आदेश के जरिए जयपुर पुलिस आयुक्त कार्यालय क्षेत्र के समस्त थाना क्षेत्रों में इंटरनेट सेवाओं तथा-2जी/3जी/4जी डाटा (मोबाइल इंटरनेट), इंटरनेट सर्विसेज, बल्क एसएमएस/एमएमएस, व्हाट्सऐप, फेसबुक, ट्विटर एवं अन्य सोशल मीडिया सर्विसेज थ्रू इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स (वाइस कॉल के अलावा) पर शनिवार (09 सितम्बर 2017) को प्रातःकाल 6 बजे से रविवार (10 सितम्बर 2017) की रात्रि 11.59 बजे तक अस्थाई प्रतिबंध लगा दिया गया.