रायपुर। सुबह-सुबह लोग सैर पर निकलते हैं, लेकिन शहर के महापौर प्रमोद दुबे शनिवार को निकले खुले में शौच करने वालों की धरपकड़ करने। दरअसल महापौर कल सुबह दौरे पर थे, उस दौरान उन्हें शौच करते हुए एक युवक मिला। युवक को प्रमोद दुबे ने ना केवल उठक-बैठक कराया, बल्कि खुले में शौच नहीं करने की समझाइश भी दी। महापौर की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है।
रायपुर शहर को शौच मुक्त करने की कल्पना पर काम कर रहे निगम प्रशासन ने 5 एएम आर्मी बनाई हैं। इस आर्मी टीम का हिस्सा नगर निगम के अधिकारियों के अलावा, जनप्रतिनिधि और शहरवासी भी हैं। हर रोज सुबह अलग-अलग हिस्सों में यह टीम ओडी स्पॉट के निरीक्षण के लिए निकलती हैं। खुले में शौच जाने वाले लोगों को पहले समझाइश दी जाती हैं और बाद में जुर्माना भी लगाया जाता है। इसके साथ ही 5 एएम आर्मी द्वारा दुष्परिणामों और खुले में शौच के कारण होने वाली बीमारियों के प्रति भी लोगों को जागरूक किया जा रहा है। खुले में शौच के कारण आज कई तरह की बीमारियों के चपेट में लोग आ रहे हैं।
रायपुर नगर निगम ने 15 अगस्त तक पूर्ण रूप से ओडिएफ करने का लक्ष्य रखा था. लेकिन इस लक्ष्य को पूरा कर पाने में निगम प्रशासन फेल साबित हुआ, लिहाजा अब पूरी ताकत से ओडिएफ करने की कवायद की जा रही है। यही वजह है कि खुद महापौर प्रमोद दुबे भी सुबह-सुबह शौच करने वाले लोगों को ढूंढने निकल पड़ते हैं। निगम प्रशासन के मुताबिक शहर के 70 में से 60 वार्ड अब तक खुले में शौचमुक्त हो चुके हैं। 10 वार्ड बाकी हैं, जहां खुले में शौैचमुक्त बनाने निगम अमले के अलावा स्कूली बच्चे, मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की मदद से शहरवासियों को जागरूक करने का काम कर रही है।