मुख्यमंत्री ने वाको इण्डिया राष्ट्रीय किक बॉक्सिंग चैम्पियनशिप विजेता  महाराष्ट्र की टीम को प्रदान किया 'मुख्यमंत्री कपÓ

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल रात यहां वाको इण्डिया राष्ट्रीय किक बॉक्सिंग चैम्पियनशिप 2017 में सर्वाधिक मेडल जीतने वाली महाराष्ट्र की टीम को 'मुख्यमंत्री कपÓ प्रदान किया। महाराष्ट्र की टीम ने इस प्रतियोगिता में सर्वाधिक 116 मेडल जीते हैं, जिनमें से 45 स्वर्ण, 28 रजत, 43 कांस्य पदक हैं। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर खिलाडिय़ों को सम्बोधित करते हुए कहा कि खिलाडिय़ों और खेल संघों के प्रयासों से जल्द ही किक बॉक्सिंग खेल को ओलम्पिक खेलों में भी मान्यता हासिल होगी।
उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में हमेशा खिलाडिय़ों का स्वागत है। इस प्रतियोगिता में 27 राज्यों के लगभग दो हजार खिलाडिय़ों और लगभग 200 खेल अधिकारियों ने हिस्सा लिया। मुख्यमंत्री ने सभी खिलाडिय़ों का छत्तीसगढ़ की जनता की ओर से स्वागत करते हुए कहा कि अलग-अलग रंग और अलग-अलग खुशबू लिए हम सब हिन्दुस्तान रूपी गुलदस्ते के रूप में एकजुट हैं। हम सभी के दिलों में हिन्दुस्तान बसता है।
राजधानी रायपुर के सरदार बलबीर सिंह जुनेजा इंडोर स्टेडियम में प्रतियोगिता का आयोजन 6 सिंतबर से 10 सितम्बर तक किया गया। इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, बीरगांव नगरपालिका की महापौर श्रीमती अम्बिका यदु, नगर निगम रायपुर के सभापति प्रफुल्ल विश्वकर्मा, छत्तीसगढ़ बीज एवं कृषि विकास निगम के अध्यक्ष श्याम बैस, समाजसेवी रमेश मोदी, टेनिस संघ के गुरूचरण सिंह होरा और पश्चिम बंगाल किक बॉक्सिंग संघ के श्री मोन्टू दास सहित अनेक जनप्रतिनिधि, खेल अधिकारी और खिलाड़ी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जो भी छत्तीसगढ़ आता है वह छत्तीसगढ़ का होकर रह जाता है। उन्होंने कहा कि यह प्रसन्नता का विषय है कि राजधानी रायपुर के इस इंडोर स्टेडियम में राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताएं आयोजित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि किक बॉक्सिंग का खेल मार्शल ऑर्ट का एक रूप है, जो हमें सेल्फ डिफेंस भी सिखाता है। यह खेल आत्मगौरव के साथ जीने का रास्ता सिखाता है।
 मुख्यमंत्री ने कहा कि कर्नाटक की चार वर्षीय किक बॉक्सिंग की खिलाड़ी प्रकृति जब मुझे पंच कर रही थी, तब उसका आत्मविश्वास देखने लायक था। यही बच्चे हमारे देश का भविष्य हैं। प्रकृति ने इस प्रतियोगिता में अपने वर्ग में रजत पदक जीता है। इस बच्ची ने स्टेज पर मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री के साथ अपना खेल कौशल भी दिखाया।
कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि यह खेल अनुशासन सिखाने के साथ सेल्फ डिफेंस सिखाता है, जो बालिकाओं के साथ-साथ बालकों के लिए भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि जो खिलाड़ी खेल में हिस्सा लेते हैं, वहीं जीतते और हारते हैं। जीत हार से अधिक खेलों में हिस्सा लेना महत्वपूर्ण है। उन्होंने विभिन्न राज्यों से खिलाडिय़ों से पूछा कि उन्हें छत्तीसगढ़ कैसा लगा तो बच्चों ने हर्ष ध्वनि कर बताया कि छत्तीसगढ़ उन्हें काफी पसंद आया। स्वागत भाषण वाको इण्डिया किक बॉक्सिंग एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष अग्रवाल ने दिया। आभार प्रदर्शन छत्तीसगढ़ किक बॉक्सिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष छगन मूंदड़ा ने किया। इस अवसर पर 54 किलोग्राम वर्ग की सीनियर चैम्पियनशिप का फाइनल मैच छत्तीसगढ़ के किक बॉक्सिंग खिलाड़ी महेन्द्रा और उत्तर प्रदेश के इमरान खान के बीच खेला गया, जिसमें इमरान खान विजयी रहे। महिला वर्ग के 56 किलोग्राम वर्ग का फायनल सिक्किम की पूरवा और पंजाब की प्रियंका के बीच खेला गया, जिसमें सिक्किम की पूरवा विजयी रहीं। केरल के खिलाड़ी ने तलवार बाजी कर प्रदर्शन किया। वहीं पश्चिम बंगाल की बालिका खिलाडिय़ों ने दंगल फिल्म के गीत पर किक बॉक्सिंग का प्रदर्शन किया।

मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य सरकार के 5000 दिन पूरे होने पर वाको इण्डिया किक बॉक्सिंग एसोसिएशन और छत्तीसगढ़ किक बॉक्सिंग एसोसिएशन द्वारा 11 किलो का केक तैयार कराया गया था। आयोजकों के आग्रह पर मुख्यमंत्री ने केक काटा। इस अवसर पर उपस्थित सभी लोगों ने मुख्यमंत्री को राज्य सरकार के 5000 दिन पूरे होने पर बधाई और शुभकामनाएं दी।