नई दिल्ली। अमेरिका में राहुल गांधी द्वारा दिए गए बयान पर सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने पलटवार करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसने की उनकी पुरानी आदत है लेकिन यह उनकी असफल रणनीति का प्रतीक है। देश के लोगों ने पीएम पर भरोसा जताया है। जिस देश में वो एक राजनीतिक पार्टी का नेतृत्व करते हैं, उस देश के नागरिकों द्वारा उनके इस कथन का समर्थन न प्राप्त होने के बाद वे अब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पीड़ा व्यक्त कर रहे हैं।

राहुल ने अंतर्राष्ट्रीय मंच से अपनी पीड़ा की जाहिर

उन्होंने कहा कि इस बात का उल्लेख करना कि कांग्रेस घमंडी हो गई और वह चुनाव हार गई ऐसा कहकर राहुल ने खुद सोनिया गांधी पर ही सवाल उठाएं हैं और अंतर्राष्ट्रीय मंच से अपनी पीड़ा जाहिर की है। राहुल गांधी अब अंतर्राष्ट्रीय मंच पर देश का हाल बयां कर रहे हैं लेकिन वह भूल गए कि वोटर तो भारतीय ही हैं। वंशवाद को लेकर राहुल गांधी द्वारा की गई टिप्पणी का जवाब देते हुए स्मृति ने कहा कि एक असफल वंश ने आज अपनी असफल राजनीतिक यात्रा के बारे में अमेरिका में बताया।

गौरतलब है कि राहुल गांधी इन दिनों अमेरिकी दौरे पर हैं। मंगलवार को बर्कले स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में राहुल ने एक युथ लेक्चर के दौरान पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह मुझसे बेहतर वक्ता हैं लेकिन उन्होंने कश्मीर में आतंकवाद के लिए रास्ते खोल दिए। साथ ही राहुल ने कहा कि सत्ता में आने पर किसी भी दल को अहंकार नहीं होना चाहिए। उन्होंने माना कि 2012 में कांग्रेस पार्टी में अहंकार घर कर गया था। अहंकार से बचा जाना चाहिए।