देश में एक ओर जहां गौरक्षा और बीफ बैन के नाम पर बवाल मचा हुआ है, वहीं दूसरी ओर मध्यप्रदेश के सिवनी जिले के मुस्लिम समाज ने एक ऐतिहासिक फैसला लेकर नई मिसाल पेश की है. मुस्लिम समाजजनों ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया है कि यदि समाज का कोई भी व्यक्ति गौकशी करते मिला या गौकशी के व्यवसाय से जुड़ा मिला, तो उसे ना केवल दंड़ित किया जाएगा, बल्कि समाज से बेदखल भी किया जाएगा. यह सख्त निर्णय सिवनी के बोरी गांव के मुस्लिम युवा और बुजुर्गों ने लिया है.

मुस्लिम समाज को यह निर्णय के लिए प्रेरित करने का श्रेय सिवनी के एसपी तरुण नायक को भी जाता है. पूर्व में सिवनी का बोरी गांव गौकशी के लिए काफी बदनाम रहा है. एसपी तरुण नायक ने इस गांव के मुस्लिम समाज के धर्मगुरु और लोगों से मिलकर संवाद कायम कर कानून और समाज की बेहतरी के कदम उठाने के लिए प्रेरित किया.

एसपी की बातो से यहां के लोग काफी प्रभावित हुए, जिसके बाद समाज के लोगों ने बैठक आयोजित कर सामूहिक रूप से गौकशी रोकने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है. साथ ही समाज ने इस फैसले में गौकशी के आलावा कई अन्य अपराधों को भी शामिल किया है. वहीं एसपी ने जिला प्रशासन की मदद से गांव के युवाओं के विकास के लिए बेहतर कदम उठाने का आश्वासन दिया है.