नई दिल्ली। आरएसएस चीफ मोहनभागवत ने राम मंदिर निर्माण को लेकर एक बार फिर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर जो भी सुप्रीम कोर्ट का फैसला होगा, उन्हें स्वीकार्य है।

अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक, मोहन भागवत से सवाल किया गया था कि क्या आने वाले लोकसभा चुनाव तक राम मंदिर का मसला सुलझ जाएगा। इसके जवाब में भागवत ने कहा कि राम मंदिर और बाबरी मस्जिद मामले पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला होगा वो उनके संगठन को मंजूर है। भागवत ने यह पूरी बात एक कार्यक्रम के दौरान कहीं।

इसके साथ भागवत ने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि उनके पीएम साथ अच्छे रिश्ते हैं और पीएम से कई मसलों पर अच्छी चर्चा होती है। साथ ही उनसे केंद्र सरकार में आरएसएस के दखल को लेकर भी सवाल किया गया था, जिसके जवाब में भागवत ने कहा कि संघ बीजेपी को नहीं चलाता और बीजेपी संघ को नहीं चलाता। यह जरूर है कि स्वयंसेवक होने के नाते विचार-विमर्श किया जाता है।