आमतौर पर जब हम कहते हैं ‘टोटका’ तो अधिकतर लोग इसे बहुत ही क्लिष्ट व दूसरों को तकलीफ देने वाला समझते हैं जबकि ऐसा नहीं है। टोटका श्रुतिनुसार, दादा-दादी या नाना-नानी से सुने गए परम्परागत उपाय हैं जिसे करने से लाभ मिलने का अनुभव कई लोगों को मिलता रहा है। कुछ फल कर्मप्रधान होते हैं। उनसे लाभ के कुछ टोटके जो हैं जादू का पिटारा, देंगे ढेरों लाभ

किसी कारण से परेशान हैं तो कारण कोई भी हो आप एक तांबे के पात्र में जल भर कर उसमें थोड़ा-सा लाल चंदन मिला दें। उस पात्र को सिरहाने रख कर रात को सो जाएं। प्रात: उस जल को तुलसी के पौधे पर चढ़ा दें। धीरे-धीरे परेशानी दूर होगी।


धन के लिए आप अपने घर, दुकान या शोरूम में एक अलंकारिक फव्वारा रखें या एक मछली घर जिसमें 8 सुनहरी व एक काली मछली हो। इसको उत्तर या उत्तर-पूर्व की ओर रखें। यदि कोई मछली मर जाए तो उसको निकाल कर नई मछली लाकर उसमें डाल दें।


यदि आप हमेशा आर्थिक समस्या से परेशान रहते हैं तो इसके लिए आप 21 शुक्रवार 9 वर्ष से कम आयु की 5 कन्याओं को खीर व मिश्री का प्रसाद बांटें।


मानसिक परेशानी दूर करने के लिए प्रतिदिन हनुमान जी का पूजन करें व हनुमान चालीसा का पाठ करें। प्रत्येक शनिवार को शनि को तेल चढ़ाएं। अपनी पहनी हुई एक जोड़ी चप्पल किसी गरीब को एक बार दान करें।


बच्चे के उत्तम स्वास्थ्य व दीर्घायु के लिए एक काला रेशमी डोरा लें, ऊं नमो भगवते वासुदेवाय’ का जाप करते हुए उस डोरे में थोड़ी-थोड़ी दूरी पर सात गांठ लगाएं। उस डोरे को बच्चे के गले या कमर में बांध दें।