सिवनी। मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन अपने व्यवहार को एक बार फिर सुर्खियों में आ गए हैं। रविवार को छपारा में कृषि संगोष्ठी एवं तकनीकी प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन था। मंत्री बिसेन भी इस दौरान उपस्थित थे। उन्होंने  कार्यक्रम में उपस्थित अधिकारियों, किसानों और तमाम लोगों से अपना फोन एक घंटे के लिए बंद रखने को कहा और सभी को अपने स्थान पर बैठने की हिदायत दी।

मंत्री ने मंच के पास खड़ी मंडी सचिव अर्चना सिंह को भी बैठने के लिए कहा लेकिन काफी देर तक जब मंडी सचिव नहीं बैठी तो बिसेन झल्ला गए और गुस्से में पूछा कि कौन हैं ये, इन्हें कार्यक्रम से भगाओ। इसके बाद उन्होंने खुद ही मंडी सचिव को कार्यक्रम से चले जाने को कह दिया। वहीं इस मामले में अर्चना सिंह ने कहा कि उन्हें बिना गलती के कृषि मंत्री ने सार्वजनिक कार्यक्रम में अपमानित किया।

कार्यक्रम में स्वागत करने के लिए उन्हें बुलाया गया था और वे भाजपा जिला अध्यक्ष नीता पटेरिया के स्वागत के बाद मंच पर खड़ी थीं। वह अपने सहायक उपनिरीक्षक से कुर्सी मांग रहीं थी, तब कृषि मंत्री ने उन्हें बैठने व शांत रहने को कहा। इसलिए वे चुपचाप खड़ी हो गईं थीं लेकिन वे भड़क गए। हालांकि उन्होंने बिसेन को फोन करके बात स्पष्ट करनी चाही लेकिन उनका फोन काट दिया गया।