शास्त्रों के अनुसार ऐसे देवी-देवताओं की प्रतिमाएं घर में रखना वर्जित है, जो अस्त्र-शास्त्र धारण किए हुए होंं, युद्ध को दर्शा रहे हों अथवा धार्मिक दृष्टि से हिंसा को बढ़ावा दें उन्हें अपने आशियानें में कभी न रखें। इससे घर में सकारात्मकता का नाश होता है और नकारात्मकता को बढ़ावा मिलता है । वैसे तो हनुमान जी सदैव अपने भक्तों का कल्याण करने वाले माने गए हैं परंतु उनसे संबंधित कुछ ऐसी प्रतिमाएं और चित्र हैं जिन्हें घर में रखने से उत्पात मचता है तथा घर में सदा क्लेश की संभावना बनी रहती है। आईए जानें कौन से हैं वो चित्र-

ऐसा चित्रपट जिसमें हनुमान जी ने अपनी छाती फाड़ रखी हो। 


हनुमान जी अस्थिर हैं और संजिवनी लेकर ऊड़ रहे हैं।


दुष्टों का दलन कर रही मुद्रा।


राम-लक्ष्मण को अपने कंधे पर बैठाया हो।

 

लंका दहन कर रहे हों।


हनुमान जी की ऐसी प्रतिमाएं लगाएं- हनुमान जी के चित्रपट अथवा प्रतिमा में अपार शक्ति है। यदि इसे वास्तु के अनुसार घर में स्थापित किया जाए तो आपका भविष्य हमेशा के लिए सुरक्षित हो जाएगा। 


युवावस्था में पीले रंग के वस्त्र पहने हुए चित्र लगाएं, जिसमें वो आशीर्वाद दे रहे हैं। इससे घर में सुख-शांति और सौहार्द बना रहेगा।


अध्ययनशील बच्चों के कमरे में हनुमान जी की लाल लंगोट पहने हुए चित्र लगाएं।


जिस स्थान पर सारा परिवार एकसाथ भोजन करता है या डाइनिंग रूम में राम दरबार का चित्र लगाएं। इससे परिवार में अपनापन और प्रेम बढ़ेगा।


जिस चित्र में हनुमान जी श्री राम जी की सेवा में लीन हैं। उसे लगाने से परिवार में धन वृद्धि होती है।


मुख्यद्वार पर पंचमुखी हनुमान जी की प्रतिमा लगाने से घर में कोई भी नकारात्मक शक्ति प्रवेश नहीं कर पाती। घर-परिवार सभी बुरी बलाओं से दूर रहता है।


घर में कलह रहती है तो हनुमान जी का बैठी मुद्रा में लाल रंग का चित्र दक्षिण दिशा में लगाएं। 


वैवाहिक दंपत्ति के बैडरूम में हनुमान जी को किसी भी रूप में स्थापित नहीं करना चाहिए।