बीसीसीआई ने पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी का नाम देश के तीसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म भूषण पुरस्कार के लिए भेजा है. बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि बीसीसीआई ने पद्म सम्मान के लिए सर्वसम्मति से एक नाम भेजा है जोकि भारत के सबसे सफल कप्तान का नाम है.

बीसीसीआई के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना ने कहा, "बोर्ड ने महेन्द्र सिंह धोनी का नाम पद्म भूषण सम्मान के लिए भेजा है. यह फैसला सदस्यों की सर्वसम्मति से हुआ. वह मौजूदा क्रिकेट के महानतम नामों में से एक है और बोर्ड के लिए सबसे उपयुक्त विकल्प." धोनी भारत के इकलौते खिलाड़ी है जिनकी कप्तानी में टीम ने दो विश्व कप जीते हैं जिसमें 2007 में टी-20 विश्व कप और 2011 का वनडे विश्व कप शामिल है.

सम्मान पाने वाले 11वें क्रिकेटर
खन्ना ने कहा, "वह वनडे में 10,000 रन के करीब है और हमारे सबसे महानतम एक दिवसीय खिलाड़ी में से एक है. इस पुरस्कार के लिए उनसे अच्छा कोई नाम नहीं हो सकता था." अगर धोनी को यह खिताब मिलता है तो यह सम्मान पाने वाले वह देश के 11वें क्रिकेटर होंगे.

इससे पहले सचिन तेंदुलकर, कपिल देव, सुनील गवास्कर, राहुल द्रविड़, चंदू बोर्डें, प्रो. डीबी देवधर, कर्नल सी.के. नायडू और लाला अमरनाथ के साथ-साथ पटियाला के राजा भलिंद्रा सिंह और विजयनगर के महाराज विजय आनंद को सम्मान मिला है.

धोनी के नाम ये शानदार रिकॉर्ड्स
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 16 शतक (वनडे में 10 और टेस्ट में छह) और 100 अर्धशतक लगाने वाले 36 वर्षीय धोनी ने अब तक 302 वनडे अंतरराष्ट्रीय मैचों में 9737 रन बनाए है जबकि 90 टेस्ट में उनके नाम 4876 रन है. टी20 अंतरराष्ट्रीय के 78 मैचों में धोनी के बल्ले से 1212 रन निकले हैं.

विकेट के पीछे भी उनका रिकॉर्ड शानदार रहा है. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उन्होंने 584 (टेस्ट में 256, वनडे में 285 और टी-20 में 43) कैच लपकने के साथ 163 स्टंपिंग भी की है.

धोनी को पहले ही अर्जुन पुरस्कार, राजीव गांधी खेल रत्न और पद्म श्री से सम्मानित किया जा चुका है.