भोपाल जिला कोर्ट में कांग्रेस नेता अजय सिंह पर एक करोड़ की मानहानि के मामले में सीएम शिवराज सिंह चौहान और उनकी पत्नी साधना सिंह ने बयान दर्ज कराए. कोर्ट में लंच से पहले पहुंचे सीएम शिवराज ने तीन घंटे तक अपने बयान दर्ज कराए. लंच के बाद उनकी पत्नी साधना सिंह के बयान दर्ज हुए.

सीएम शिवराज सुबह साढ़े 11 बजे कोर्ट पहुंचे. कोर्ट में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम थे. कठघेरे में बयान दर्ज कराने के लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान खड़े हुए. कोर्ट में करीब तीन घंटे तक सीएम के बयान दर्ज हुए. सीएम के बयान के दौरान अजय सिंह के पक्ष की तरफ वकीलों ने सवाल जबाव भी किए.

कोर्ट में सीएम का बयान

'मैं घर पहुंचा, तो पत्नी ने बताया कि टीवी में परिवार के खिलाफ कुछ चल रहा है. रिश्तेदारों के फोन भी आए. मुझे रातभर नींद नहीं आई. मन में बैचेनी थी. राजनीति में लोग इतने नीचे भी गिर सकते हैं, ये मैंने सोचा नहीं था. मेरे और मेरे परिवार के स्वाभिमान को ठेस पहुंची. मैंने फैसला लिया और फिर कोर्ट में मामले को दायर किया.'

लंच के बाद फिर एक घंटे तक कोर्ट में सीएम शिवराज सिंह चौहान की पत्नी साधना सिंह के बयान दर्ज हुए. सीएम और उनकी पत्नी के बयान दर्ज कराने के दौरान अजय सिंह के वकीलों ने सवाल जबाव भी किए. सीएम और उनकी पत्नी ने वकीलों के सवाल के जबाव भी दिए.

दरअसल, 9 मई 2013 को सागर में आयोजित जनक्रांति जनसभा को संबोधित करते हुए अजय सिंह ने साधना सिंह के बारे में कई आपत्तिजनक बयान दिए थे. इसके बाद 4 जून 2013 को खरगौन में भी अजय सिंह ने आपत्तिजनक बयानबाजी की थी. दोनों ही बयानों को मानहानि के दायरे में बताते हुए सीएम ने भोपाल की जिला अदालत में मुकदमा दायर किया.

न्यायिक दण्डाधिकारी ने 10 अक्टूबर 2013 को अजय सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था.
अजय सिंह ने 16 जुलाई 2014 को मामले पर जमानत भी कराई. इसके खिलाफ पुनरीक्षण याचिका दायर की गई, जिसके 16 जुलाई 2016 को खारिज कर दिया था.

सीएम शिवराज सिंह चौहान और उनकी पत्नी साधना सिंह के बयान दर्ज होने के बाद अब कोर्ट में गवाहों के बयान दर्ज किए जाएंगे. ये दूसरी बार है, जब सीएम अपनी पत्नी के साथ कोर्ट में बयान दर्ज कराने पहुंचे थे.