उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कैबिनेट बैठक में कई बड़े फैसले लिए. बैठक में नवरात्र के दौरान सभी शक्तिपीठों को 24 घंटे बिजली देने का फैसला लिया गया.

इस फैसले को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने शारदीय नवरात्रों के दौरान सभी देवी शक्तिपीठों पर 24 घंटे बिजली आपूर्ति, साफ-सफाई, स्वास्थ्य, सुरक्षा व परिवहन की हर संभव व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. शक्तिपीठों व देवी मंदिरों में पालीथिन व प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं करने को भी कहा है.मंदिर मे भगदड़ ना हो इसको लेकर निर्देश जारी किया गया है.सरकार ने निर्णय लिया है कि नवरात्र के समय श्रद्धालुओं को कोई दिक्कत न होने पाए.

राज्य सरकार के प्रवक्ता व ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने एक पत्रकार वार्ता में बताया कि प्रदेश में विंध्याचल धाम, देवीपाटन, शाकुंभरी देवी, कड़ा शीतलाधाम, नैमिषारण्य में ललिता देवी, अलोपी देवी, खेमकली देवी सहित बड़ी संख्या में शक्तिपीठ और देवी मंदिर हैं. नवरात्रों में दर्शनार्थियों की संख्या में बढ़ोत्तरी को ध्यान में रखते हुए प्रदेश सरकार ने शक्तिपीठों में सभी सार्वजनिक व्यवस्थाओं को चुस्त व दुरुस्त करने के निर्देश जारी किए हैं.

मुख्यमंत्री योगी ने पिछले नवरात्रों में भी शक्तिपीठों व देवी मंदिरों पर बेहतर व्यवस्था के ऐसे ही निर्देश दिए थे.इस बार उससे अच्छी व्यवस्था करने का निर्देश दिया है. शर्मा ने बताया कि प्रदेश के सभी शक्तिपीठों व देवी मंदिरों में दर्शनार्थियों व तीर्थयात्रियों को हर संभव सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए जिलाधिकारियों, मुख्य चिकित्साधिकारियों, नगर आयुक्तों व स्थानीय निकाय के अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर दी गई है.

गौरतलब है कि पहली बार किसी मुख्यमंत्री ने शक्तिपीठों को नवरात्र में निर्बाध विद्युत आपूर्ति करने की मंशा जाहिर करते हुए पावर कारपोरेशन को इसके लिए कड़े निर्देश दिए हैं.

मुख्यमंत्री योगी ने शक्तिपीठों एवं प्रमुख देवालयों को 24 घंटे बिजली देने का निर्देश पावर कारपोरेशन को देते हुए इसकी सूची भी तलब की है.उन्होंने कहा है कि सूची में शामिल शक्तिपीठों को जाने वाली लाइनें नवरात्र भर खराब न हो और जिस फीडर से इनके लिए आपूर्ति की जाती है। उसे दुरुस्त कर लिया जाए. इस दौरान यदि आपूर्ति में व्यवधान होगा तो संबंधित अधिकारियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी. इसके लिए समय रहते पूरी मुकम्मल तैयारी कर ली जाए.

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री और सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने बुधवार को बताया कि नवरात्र मेलों के दौरान मंदिरों के आस पास बसें चलाई जाएंगी, ताकि मंदिरों में आने वाले श्रद्धालुओं को परेशानी ना हो. मंत्री ने बताया कि नवरात्र के समय देवी मंदिरों के आसपास होने वाली गंदगी की साफ सफाई के भी निर्देश दिये हैं. उन्होंने इसके लिए लोगों से सहयोग की अपील की है.


मंत्री ने बताया कि शक्तिपीठों के आसपास बिकने वाले खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने की भी व्यवस्था की जा रही है. देवी मंदिरों के आस-पास सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम रहेंगे.

एक सवाल के जवाब में ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि तकनीकी कारणों से इस समय प्रदेश में बिजली उत्पादन में कमी आई है, जिसके चलते विद्युत आपूर्ति में थोड़ा व्यवधान पैदा हुआ है, लेकिन इस समस्या से जल्द ही निजात मिल जायेगी.उन्होंने कहा कि योगी सरकार को विरासत में जर्जर व्यवस्था मिली है. इसे ठीक करने में सरकार को कम से कम दो साल लग जाएंगे.