मध्य प्रदेश के रीवा के चर्चित विद्यालय में छात्रों को बंधक बनाने का मामला सामने आया है. बच्चों को बंधक यहां के शिक्षकों के द्वारा बनाया गया था मौके पर पहुंची पुलिस ने ताला खुलवाकर बच्चों को युवकों के सुपुर्द कर दिया और प्रबंधन से पूछताछ कर रहा है.

विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र में संचालित ड्रीम इंडिया स्कूल में अभिभावकों का जमावड़ा लग गया जब उनको यह जानकारी हुई कि आज सुबह से बच्चों की क्लास नहीं लगी है और सभी छात्रों को धूप में शिक्षकों के द्वारा खड़ा किया गया है.

जैसे ही अभिभावक विद्यालय पहुंचकर अपने बच्चों को घर ले जाने की मांग की तो शिक्षकों ने दरवाजा नहीं खोला और उन्हें यह कहकर लौटा दिया कि प्रबंधन उनकी तनख्वाह नहीं दे रहा है.

घटना की जानकारी लगते ही स्थानीय लोगों ने मीडिया को सूचना दी मीडिया के पहुंचने के बाद भी अभिभावकों ने दरवाजा नहीं खोला. जब इसकी सूचना विश्वविद्यालय थाना प्रभारी शिव पूजन मिश्रा को दी गई तो शीघ्र ही पुलिस वाले भेज कर दरवाजा खुलवाया गया और बच्चों को अभिभावको के साथ बाहर निकाला गया अभिभावकों ने बताया कि सुबह आठ बजे से बारह बजे तक छात्रों को धूप में खड़ा किया गया है.

शिक्षकों के द्वारा न तो बच्चों को मिलने दिया जा रहा है और ना ही घर भेजा जा रहा है. वहीं कुछ पेरेंट्स ने बताया कि विद्यालय प्रबंधन के द्वारा उन्हें धमकी दी जाती है, कि जो करना हो कर लो ना तो विद्यालय में पढ़ाई होती है और ना ही किसी तरह की व्यवस्था है.

वहां उपस्थित शिक्षक अवधेश त्रिपाठी ने बताया कि उनकी सैलरी मई महीने से नहीं मिली है, जिसके चलते आज उन्हें मजबूरन हड़ताल में जाना पड़ा है और बच्चों को क्लास में जाने से रोका है.

मौके पर पहुंची पुलिस के प्रभारी तौहीद खान ने बताया कि घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. शिक्षकों के द्वारा छात्रों का उपयोग कर अपनी बात मनवाने का प्रयास किया जा रहा था. सूचना पर पहुंच कर बच्चों को मुक्त कराया गया है और प्रबंधन को थाने ले जाकर पूछताछ की जाएगी.