मध्य प्रदेश के पन्ना जिले के बहादुर सपूत वीर चक्र विजेता ग्रुप कैप्टन भरत सिंह का कल सिंहपुर में देहांत हो गया. वे 91वे वर्ष के थे. उनके पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए उनके निजी तरिया फॉर्म हाउस में रखा गया. जिनके अंतिम दर्शन के लिए क्षेत्र है सेकड़ों लोग उमड़ पड़े.

कल 22 सितम्बर शुक्रवार को दोपहर में हृदय गति रुकने से उनका निधन हो गया था. उन्होंने 1965 के भारत- पाक युद्ध में दुश्मन के फाइटर विमान को मार गिराया था. और अपने पराक्रम से दुश्मनों के दांत खट्टे कर दिये थे. उनकी इस बहादुरी के लिये तत्कालीन राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने उन्हें वीर चक्र से सम्मानित किया था.

देश के यह वीर सपूत आजादी के एक वर्ष पूर्व 1946 में वायु सेना में भर्ती हुए थे. पन्ना जिले के उनके निजी ग्राम सिंहपुर में उनको आज सम्मान के साथ बैंडबाजों के बीच अंतिम विदाई दी गई.

इस अवसर पर पुलिस-प्रसाशन के अलावा पन्ना जिले के हजारों लोगों ने नाम आँखों से उन्हें अंतिम विदाई दी. अंतिम संस्कार के अवसर पर उनके पार्थिव शरीर को सलामी भी दी गयी.