आगराः भलेही सुप्रीम कोर्ट ने ट्रिपल तलाक पर फैसला सुना दिया हो लेकिन जमीनी स्तर पर इसका असर होता नहीं दिखाई दे रहा है। उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में एेसे ही एक मामला समाने आया है।

तलाक और हलाला के एक मामले ने पुलिस को उलझन में डाल दिया है। आरोप है कि बुर्का न पहनने पर तलाक दिया गया। रात में ही हलाला के लिए पति ने अपने दोस्त को बुला लिया। पीड़िता ने अपने मायके वालों को इसकी जानकारी दी। इस मामले में पति सहित 6 लोगों के खिलाफ  मारपीट, छेड़छाड़, दुष्कर्म के प्रयास में मुकद्दमा दर्ज किया गया है।

ये सनसनीखेज मुकदमा शाहगंज थाने में दर्ज हुआ है। मुकदमा युवती की बहन ने लिखाया है। महिला का मायका भोपाल में है। शादी को 12 साल हो चुके हैं। उनके 2 बच्चे हैं। आरोप है कि महिला 15 सितम्बर को बिना बुर्का के सलवार-सूट में बाजार गई थी। इससे ससुरालीजन नाराज हो गए। पति ने फोन करके तलाक की बात कही।

रात में महिला को उसकी सास, ससुर, ननद और एक अन्य व्यक्ति ने पकड़ लिया तथा उसके कपड़े फाड़ दिए। इसके बाद हलाला करने की कोशिश की। शोर मचाने पर उसकी मोबाइल से वीडियो बना ली। पैट्रोल डालकर जलाने का प्रयास भी किया जिसमें महिला का हाथ जल गया। महिला ने किसी तरह मोबाइल से अपने पिता को जानकारी दी।

हलाला के लिए जीजा ने दोस्त को बुलाया। आरोपी दोस्त विवि कर्मचारी है। इंस्पेक्टर शाहगंज ने बताया कि आरोप बेहद गंभीर हैं। महिला के मामले में पुलिस बिना तथ्य जुटाए कुछ नहीं बोल सकती है।