सीरीज के चौथे मैच में जीत का स्वाद चखने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम को रोकना आसान नहीं होगा। बावजूद इसके टीम इंडिया पांचवें एवं अंतिम वनडे में जीत के साथ सीरीज का अंत करना चाहेगी। सीरीज अपने कब्जे में करने के बाद भारतीय टीम प्रबंधन ने चौथे वनडे में बेंच स्ट्रैंथ को आजमाने का फैसला किया और टीम को 21 रन से हार का सामना करना पड़ा। इसके साथ नौ मैचों से चला आ रहा टीम इंडिया की जीत का सिलसिला भी रुक गया।
सीरीज में अपना पहला मैच खेल रहे मोहम्मद शमी, उमेश यादव और अक्षर पटेल काफी महंगे साबित हुए, हालांकि भारत की हार के लिए सिर्फ गेंदबाज दोषी नहीं थे। खुद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने गेंदबाजों के प्रदर्शन का बचाव किया जिसके सामने ऑस्ट्रेलिया की टीम पांच विकेट पर 334 रन का बड़ा स्कोर बनाने में सफल रही। कोहली ने कहा कि हमारे बल्लेबाज कुछ बेहतर कर सकते थे। इसको देखते हुए अचरज नहीं होगा अगर पांचवें वनडे में भी कोहली रविवार को अपने रिजर्व गेंदबाजों को ही मौका दें और जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर और कुलदीप यादव को एक और मैच में विश्राम का मौका मिले।

बल्लेबाजी में लोकेश राहुल को मौका मिल सकता है क्योंकि वहीं एक ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्हें इस सीरीज में एक भी मैच खेलने को नहीं मिला। टीम प्रबंधन को अपनी योजनाओं पर फिर से विचार करने की जरूरत होगी क्योंकि दोनों ही टीमें सीरीज का अंत जीत से करना चाहेंगी ताकि टी-20 सीरीज के लिए जीत की लय कायम रहे।