सेलेक्शन प्रोसेसे से निराश होकर एक युवा क्र‍िकेटर ने खुदखुशी की कोशिश की है. पाकिस्तान के इस यंग प्लेयर ने फर्स्ट क्लास मैच के दौरान स्टेडियम में ही आत्मदाह करने की कोशिश की. लाहौर क्रिकेट स्टेडियम में घुसकर खुदखुशी की कोशिश करने वाले इस पाकिस्तानी प्लेयर का नाम गुलाम हैदर अब्बास है.

दाएं हाथ के फास्ट बॉलर गुलाम हैदर अब्बास ने लाहौर सिटी क्रिकेट असोसिएशन (एलसीसीए) मैदान में घुसकर खुद पर पेट्रोल डालने की कोशिश की. उस समय स्टेडियम में कायदे-आजम ट्रॉफी का मैच चल रहा था. कायदे-आजम ट्रॉफी का मैच देख रहे कुछ लोगों ने तुरंत जाकर अब्बास को रोका और उन्होंने शोर मचाया, जिसके बाद एलसीसीए के लोगों ने उसे शांत कराया.

लाहौर असोसिएशन के पूर्वी जोन से संबंध रखने वाले अब्बास ने कहा कि वह अधिकारियों के इन झूठे वादों से तंग आ चुका है. अब्बास के अनुसार उसे लगने लगा था कि कभी भी लाहौर टीम के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट मैच खेलने का मौका नहीं मिलेगा .

दोबारा प्रयास करने की दी धमकी

अब्बास ने चेताया कि यदि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने उसकी अर्जी नहीं सुनी तो वह गद्दाफी स्टेडियम के मुख्य दरवाजे पर आत्मदाह कर लेगा. उसने कहा कि यदि वह खुदकुशी कर लेता है तो एलसीसीए के प्रमुख को इसका जिम्मेदार माना जाना चाहिए, क्योंकि वे प्रतिभा के आधार पर खिलाड़ियों का चयन नहीं कर रहे.

रिश्वत का आरोप लगाया

क्रिकेटर ने चयनकर्ताओं पर आरोप लगाया कि वे उसे एक मौका देने की बदले में रिश्वत की मांग कर रहे थे. ऐसे में चयन प्रक्रिया के दौरान बार-बार खारिज कर दिए जाने से तंग आकर पाकिस्तान के एक युवा क्रिकेटर ने एक स्थानीय स्टेडियम में प्रथम श्रेणी मैच के दौरान आत्मदाह की कोशिश की.