नागपुर: ओपनर रोहित शर्मा (125) के धमाकेदार शतक और इससे पहले स्पिनर अक्षर पटेल(38 रन पर तीन विकेट) की जबरदस्त गेंदबाजी से भारत ने आस्ट्रेलिया को वनडे सीरीज के आखिरी मुकाबले में यहां रविवार को सात विकेट से पीटते हुए सीरीका का 4-1 से विजयी समापन किया। आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम से मिली पिछली हार के बाद पांचवें वनडे में मेजबान भारतीय टीम ने गेंद और बल्ले से हरफनमौला खेल दिखाया। आस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में नौ विकेट पर 242 का स्कोर बनाया जो भारत के लिए चुनौतीपूर्ण साबित नहीं हुआ और मेजबान टीम ने 42.5 ओवर में ही तीन विकेट पर 243 रन बनाते हुये जीत अपने नाम कर ली।

भारतीय टीम के लिये ओपनर अजिंक्या रहाणे और रोहित शर्मा ने कमाल की शुरूआत करते हुये पहले विकेट के लिए 22.3 ओवर में 124 रन की शतकीय साझेदारी की और जीत की नींव रखी। रहाणे ने करियर का 23वां अर्धशतक बनाया और 74 गेंदों में सात चौके लगाकर 61 रन की बढिया पारी खेली और दूसरे छोर पर रोहित का बखूबी साथ दिया जिन्होंने 109 गेंदों में 11 चौके और पांच छक्के लगाकर 125 रन जड़ दिए।  30 वर्षीय रोहित ने इसी के साथ वनडे करियर का 14वां शतक भी पूरा किया। रहाणे को नाथन कोल्टर नाइल ने पगबाधा कर अपना शिकार बनाया और आस्ट्रेलिया के लिये पहला विकेट भी हासिल किया। लेकिन मेहमान टीम को फिर अपने दूसरे विकेट के लिये 99 रन तक इंतजार करना पड़ा। रोहित को मैच के 40वें ओवर में जाकर एडम जम्पा आउट कर सके जिन्होंने कोल्टर के हाथों भारतीय बल्लेबाज को आउट किया। उस समय भारत अपनी जीत से मात्र 20 रन ही दूर था।

इससे पूर्व रहाणे के आउट होने के बाद रोहित ने तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे कप्तान विराट कोहली के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिये 99 रन की बेहतरीन साझेदारी की। विराट ने 55 गेंदों में दो चौके लगाकर 39 रन बनाये। जष्स्रपा ने 40वें ओवर की चौथी गेंद पर भारतीय कप्तान को मार्कस स्टोइनिस के हाथों कैच कराकर 227 के स्कोर पर तीसरा विकेट निकाला और विराट मैच को फिनिश करने से चूक गये।  हालांकि यह काम फिर केदार जाधव और मनीष पांडे ने पूरा किया। जाधव आठ गेंदों में एक चौका लगाकर पांच रन और पांडे 11 गेंदों में दो चौकों के साथ 11 रन बनाकर नाबाद रहे और जीत की औपचारिकता को पूरा किया। आस्ट्रेलिया के लिये जपा ने 59 रन पर दो विकेट और नाथन कोल्टर नाइल ने 42 रन पर एक विकेट हासिल किया। मैच में इससे पहले भारतीय गेंदबाकाों ने बेहतर गेंदबाजी करते हुये आस्ट्रेलिया को नौ विकेट पर 242 रन के स्कोर पर थाम लिया। मेहमान टीम के कप्तान स्टीवन स्मिथ ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन उसके बल्लेबाका इस बार बेंगलुरू मैच के प्रदर्शन को दोहरा नहीं सके। 

टीम की ओर से ओपनर डेविड वार्नर ने 53 रन की सबसे बड़ी पारी खेली जबकि मध्यक्रम में बल्लेबाका मार्कस स्टोइनिस ने 46 रन और ट्रेविस हैड ने 42 रन की पारियां खेलते हुये स्थिति को कुछ हद तक संभाला।  भारतीय टीम के गेंदबाकाों ने बेंगलुरू वनडे में की गयी गलतियों को सुधारा और काफी हद तक किफायती गेंदबाजी की जिसमें इस बार स्पिनरों की भूमिका काफी अहम रही। पिछले मैच में काफी महंगे साबित हुये अक्षर ने इस बार कमाल का प्रदर्शनक किया और 10 ओवर में 38 रन देकर सर्वाधिक तीन विकेट निकाले। अन्य स्पिनरों में चाइनामैन गेंदबाका कुलदीप यादव ने 10 ओवर में कोई विकेट नहीं निकाला और 48 रन दिये जबकि केदार ने इतने ही ओवरों में 48 रन पर एक विकेट हासिल किया।  तेका गेंदबाजों का प्रदर्शन भी उतना ही दमदार साबित हुआ जिनमें मध्यम तेका गेंदबाका जसप्रीत बुमराह को 51 रन पर दो विकेट मिले, भुवनेश्वर कुमार को 40 रन पर एक विकेट और हार्दिक पांड्या को 14 रन पर एक विकेट हाथ लगा।