मुंबई
उत्तर मुंबई से बीजेपी सांसद और दिवंगत बीजेपी नेता प्रमोद महाजन की बेटी पूनम महाजन ने अहमदाबाद में भारतीय प्रबंधन संस्थान के छात्रों को संबोधित करते हुए अपने साथ हुए यौन शोषण का खुलासा किया। वह वहां रेड ब्रिक सम्मेलन में हिस्सा ले रही थीं।

उन्होंने बताया कि जब उनके पास रोज कार से आने-जाने के पैसे नहीं थे तब वह अपनी क्लास के लिए वर्ली से वर्सोवा तक ट्रेन में सफर करती थीं और जब उन्हें कोई गलत तरह से देखता था तो उन्हें कभी खुद पर तरस नहीं आया। उन्होंने छात्रों से कहा कि इस तरह की स्थिति में जब कोई गलत तरह से आपकी तरफ देखता है तो खुद को बेचारा न समझें। उन्होंने कहा कि धरती पर सभी महिलाओं ने, खासकर भारत में, ऐसी परिस्थितियों का सामना किया है। उन्होंने कहा, 'हर भारतीय महिला पर छींटाकशी की गई है या उसे गलत तरीके से छुआ गया है। ऐसा कुछ अनुभव होने पर खुद को बेचारा समझ तरस नहीं आना चाहिए।'

पूनम संस्थान में 'ब्रेकिंग द ग्लास सीलिंग' पर बोल रहीं थीं। इस पर बात करते हुए उन्होंने महिलाओं की सफलता को लेकर भारत को अमेरिका से काफी आगे बताया। उन्होंने कहा कि अमेरिका में कोई महिला राष्ट्रपति नहीं हुई जबकि हमारे यहां महिलाएं राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री और मुख्यमंत्री, सभी पदों पर रही हैं। इन लोगों ने 'ग्लास सीलिंग' को तोड़ा है। यह हमारे ऊपर है कि हम इस चलन को आगे लेकर जाएं। खुद पर तरह नहीं आना हमारे हाथ में है। कोई आपको परेशान करता है तो उसे थप्पड़ मारें और यह न सोचें कि उसने ऐसा क्यों किया।

उन्होंने कहा कि राजनीति में पुरुष साधारण हो सकते हैं, महिलाएं नहीं। उन्होंने कहा, 'महिलाएं साधारण नहीं रह सकतीं। हमें ताकत की जरूरत है और हमने यह दिखाया है।' उन्होंने टीवी धारावाहिकों पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि वह महिलाओं की छवि का खराब करते हैं।

महाजन भारतीय जनता युवा मोर्चा की अध्यक्ष हैं और भारतीय बास्केटबॉल महासंघ (बीएफआई) की अध्यक्ष बनने वाली पहली महिला भी हैं। अपने पिता प्रमोद महाजन के निधन के बाद पूनम भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुई थीं। 2014 के आम चुनावों में उन्होंने कांग्रेस की प्रिया दत्त को हराकर मुंबई उत्तर-मध्य से चुनाव जीतकर संसद में प्रवेश किया था।