मध्य प्रदेश के सतना जिले में सभी सरकारी स्कूलों में आज से हाजिरी के दौरान बच्चों ने यस सर या यस मैम की जगह जय हिंद बोलना शुरू कर दिया है. राज्य के स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह ने इस बारे में पिछले महीने एक फरमान जारी किया था. पूरे राज्य में ये व्यवस्था एक नवंबर से लागू कर दी जाएगी.

मध्यप्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह ने एक नया फरमान जारी किया है. उन्होंने कहा है कि सरकारी स्कूलों के बच्चों को हाजिरी में अब जय हिंद बोलना होगा.

विजय शाह ने सतना में कहा कि हाजिरी में बच्चे यस सर या यस मैम बोलते हैं. मगर अब ऐसा नहीं होगा. उन्होंने कहा कि अब सभी सरकारी स्कूलों के बच्चे हाजिरी में जय हिंद बोलेंगे. शाह ने बताया कि ये व्यवस्था 1 अक्टूबर से लागू कर दी जाएगी.

तीन अक्टूबर से सतना जिले के 3236 प्राथमिक और माध्यमिक, जबकि 1076 हाईस्कूल और हायर सेकेंडरी शासकीय स्कूलों में हाजिरी के दौरान यस सर और यस मैम की गूंज सुनाई देना बंद हो गई. मंत्री के आदेश के बाद अब छात्रों ने हाजिरी के वक्त अपनी उपस्थित दर्ज कराने के लिए 'जय हिंद' बोलना शुरू कर दिया.

हालांकि, पहले दिन अधिकांश जगहों पर छात्र-छात्राओं में इस बात को लेकर हिचक दिखाई दी. पहला दिन होने की वजह से शिक्षकों ने पहले बच्चों को शासन के इस नए आदेश की जानकारी दी. फिर अटेंडेंस में जय हिंद बोलने की समझाइश दी. इसके बाद फिर हाजिरी ली गई.

कुछ जगहों पर छात्रों पर परंपरागत तरीके से यस मैम या यस सर का संबोधन किया. बाद में शिक्षक के बताने पर उन्होंने अपनी गलती में सुधार कर लिया.

शिक्षा मंत्री के इस फैसले के पीछे ये तर्क दिया जा रहा है कि ऐसा होने से बच्चों के बीच देश भावना पैदा होगी. प्रदेश में सतना पहला जिला है जहां ये आदेश लागू किया गया. प्रदेश के स्थापना दिवस एक नवंबर पर पूरे प्रदेश में यह लागू होगा.