शाहजहांपुर
जिले के लोधीपुर मोहल्ले में ससुर के साथ संबंध बनाने से इनकार करने पर महिला को तीन तलाक देने का मामला सामने आया है। महिला का आरोप है कि इनकार करने पर ससुरालीजनों ने उसे लाठी-डंडे से पीटा और कपड़े फाड़कर घर से निकाल दिया। तलाक देने के बाद पति ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग भी किया। पीड़िता के पिता की शिकायत पर रोजा थाने की पुलिस ने महिला के पति, सास, ससुर सहित पांच लोगों के खिलाफ दहेज अधिनियम के साथ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

थाना रोजा के मोहल्ला लोधीपुर निवासी अनीस खां ने पुलिस को की शिकायत में बताया है कि उन्होंने बेटी रुकइया का निकाह एक साल पहले मोहल्ले के इमरान खां के साथ किया था। करीब पांच लाख रुपये का दहेज भी ससुराल वालों को दिया था। शादी के कुछ दिन बाद ससुराल वाले बेरोजगार इमरान को नौकरी दिलवाने के नाम पर रुकइया पर मायके से पैसे लाने का दबाव बनाने लगे और विरोध करने पर मारपीट की। इस बीच ससुराल के लोग पति के सौतेले पिता मोहम्मद सलीम से संबंध बनाने का दबाव बनाने लगे।

अनीस के मुताबिक 28 सितंबर को ससुराल वालों ने उन्हें फोन कर बेटी को न ले जाने पर हत्या की धमकी दी। जब वह ससुराल पहुंचे तो देखा कि लहूलुहान रुकइया अर्द्धनग्न अवस्था में सड़क पर पड़ी थी। इसी बीच इमरान ने कहा कि उसने रुकइया को तलाक दे दिया है और देखें तुम्हारी शिकायत पर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री मेरा क्या कर लेंगे। इसके बाद अनीस की सूचना पर पहुंची पुलिस ने रुकइया को जिला अस्पताल भिजवाया। रोजा थाने की पुलिस ने बताया कि इमरान, निधि, ससुर सलीम, सास शहनाज अख्तर और उसकी भाभी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।