रांची: अपने गेंदबाजों के बेहतर प्रदर्शन के दम पर भारत ने आज तीन मैचों की श्रृंखला के पहले वर्षाबाधित टी20 मैच में आस्ट्रेलिया को 18.4 ओवर में 118 रन पर रोक दिया। बारिश के कारण खेल रोके जाने तक आस्ट्रेलिया ने 18.4 ओवर में आठ विकेट पर 118 रन बनाय थे जिसे टीम का अंतिम स्कोर माना गया। आस्ट्रेलिया का बल्लेबाजी क्रम एक बार फिर भारतीय गेंदबाजों का सामना नहीं कर सका और आरोन फिंच (42) के अलावा कोई बल्लेबाज क्रीज पर टिक नहीं सका। भारतीय गेंदबाजों के दबदबे का आलम यह था कि आस्ट्रेलिया के सिर्फ तीन बल्लेबाज दोहरे अंक तक पहुंच सके। वनडे श्रृंखला में 4-1 से हार के बाद आस्ट्रेलिया को मैच से पहले करारा झटका लगा जब कप्तान स्टीव स्मिथ कंधे की चोट के कारण पूरी श्रृंखला से बाहर होकर स्वदेश लौट गए । उनकी जगह डेविड वार्नर ने टीम की कमान संभाली। हालांकि बल्लेबाजी में वह कोई जलवा नहीं दिखा सके ।   

दर्शकों में दिखा धोनी का क्रेज
भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टास जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण का फैसला लिया और उनके गेंदबाजों ने कप्तान के भरोसे को सही साबित करते हुए आस्ट्रेलिया की खतरनाक सलामी जोड़ी को खुलकर खेलने नहीं दिया। खचाखच भरे जेएससीए स्टेडियम पर रांची के राजकुमार महेंद्र सिंह धोनी का दर्शकों में क्रेज देखते बनता था। भुवनेश्वर कुमार के पहले ओवर में वार्नर ने तीसरी और चौथी गेंद पर चौके लगाये लेकिन पांचवीं गेंद पर चूके ओैर बोल्ड हो गए। इसके बाद फिंच और ग्लेन मैक्सवेल ने दूसरे विकेट के लिये 47 रन की साझेदारी की जिसे स्पिनर युजवेंद्र चहल ने सातवें ओवर में तोड़ा। ग्लेन मैक्सवेल 17 रन बनाकर शार्ट मिडविकेट पर जसप्रीत बुमरा को कैच देकर लौटे।  दूसरे छोर से लगातार विकेट गिरते देख रहे फिंच ने खुलकर खेलना जारी रखा और नौवें ओवर में चहल को डीप मिडविकेट पर छक्का लगाया। अगले ओवर में हालांकि वह चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप की गेंद पर चूके और बोल्ड हो गए। उन्होंने 30 गेंद में चार चौकों और एक छक्के की मदद से 42 रन बनाये। फिंच का विकेट दसवें ओवर में 76 के स्कोर पर गिरा। 

मोइजेस हेनरिक्स को यादव ने अपना दूसरा शिकार बनाया जो 13वें ओवर में नीचे की ओर जाती गेंद को आगे बढ़कर खेलने के प्रयास में चूक गए और गेंद सीधे गिल्लियों पर जा लगी। इस समय स्कोर 87 रन था और इसमें दो रन ही जुड़े थे कि ट्रेविस हेड भी अपना विकेट गंवा ​बैठे। इस बार गेंदबाज हार्दिक पंड्या थे जिन्होंने उन्हें बोल्ड किया। इस बीच विकेटकीपर बल्लेबाज टिम पेन को 15वें ओवर में चहल की गेंद पर तीन जीवनदान मिले। पहले चहल ने उनका रिटर्न कैच छोड़ा जबकि पांचवीं गेंद पर धोनी ने स्टंपिंग का मौका गंवाया। आखिरी गेंद पर भुवनेश्वर ने डीप मिडविकेट पर कैच टपकाया। पेन हालांकि इसका फायदा नहीं उठा सके और 18वें ओवर में बुमरा का शिकार हुए। बुमरा ने इस ओवर में पेन (17) और  नाथन कूल्टर नाइल (1) को पवेलियन भेजा । भारत के लिये जसप्रीत बुमरा और कुलदीप यादव ने दो दो विकेट लिये जबकि भुवनेश्वर, पंड्या और चहल को एक एक विकेट  

टीमें इस प्रकार हैं-
ऑस्ट्रेलिया: डेविड वार्नर (कप्तान), एआरन फिंच, ग्लेन मैक्सवेल, ट्रैविस हेड, मोइजिस हेनरिक्स, डैनियल क्रिस्चियन, टिम पेन (विकेटकीपर), नाथन कल्टर-नाइल, एंड्रयू टाइ, एडम जांपा, जेसन बेहेरेन्डोरफ।

भारत: रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली (कप्तान), मनीष पांडे, एमएस धोनी (विकेटकीपर), केदार जाधव, हरदिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, यज्वेंद्र चहल, जसप्री बुमराह।