नई दिल्ली। गुजरात में होने जा रहे विधानसभा चुनाव को देखते हुए तेज हो रही राजनीतिक चहल पहल के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद अब कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी नौ अक्तूबर से तीन दिन तक गुजरात के दौर पर रहेंगे। राज्य की उनकी यह दूसरी यात्रा होगी। पार्टी सूत्रों के अनुसार गांधी नौ अक्तूबर से 11 अक्तूबर तक गुजरात में रहेंगे। इस दौरान वह पश्चिमी गुजरात में दूसरा रोड शो करेंगे और कई जिलों का दौरा करेंगे। राज्य के अपने पिछले दौरे की तरह ही इस बार भी वह वहां कई मंदिरों में दर्शन करने भी जाएंगे। गांधी ने अपने पिछले दौरे की शुरुआत गुजरात के द्वारका मंदिर में दर्शन करके की थी। इस दौरान वह कई अन्य मंदिरों मे भी दर्शन करने गए थे। वह साथ ही किसानों, व्यापारियों, धार्मिक और सामाजिक संगठन के प्रतिनिधियों से भी मिले थे।

कांग्रेस उपाध्यक्ष सुबह 10 बजे अहमदाबाद हवाई अड्डा पहुंचेंगे। पहले वह हाथीजन सर्किल जाएंगे और इसके बाद जिभाईपुरा और खेड़ा के लिए रवाना होगें जहां अमूल कार्यक्रम में उनका स्वागत किया जाएगा। जिभाईपुरा से वह संतराम मंदिर जाएंगे। यह मंदिर सांप्रदायिक सौहार्द का प्रतीक माना जाता है। यहां हिंदू और मुस्लिम दोनों समुदाय के लोग पूजा-अर्चना करते हैं। मंदिर में दर्शन करने के बाद गांधी स्वतंत्रता सेनानी सरदार पटेल के जन्मस्थान नदियाड़ का दौरा करेंगे। नंदियाड़ के बाद गांधी का आणंद के पेटलाड शहर जाएंगे और वहां लोगों को संबोधित करेंगे। डेरदद्दा गांव में वह महिला दुग्ध को-ऑपरेटिव के प्रतिनिधियों से संवाद करेंगे।

आणंद के बाद वह वडोदरा के सय्याजी हॉल पहुंचेंगे जहां वह कारोबारी प्रतिनिधियों और पेशेवर लोगों से मुलाकात करेंगे। रात में वह वडोदरा के सर्किट हाऊस में ठहरेंगे। गांधी 10 अक्टूबर को वडोदरा में बाबासाहेब आंबेडकर की‘संकल्प भूमि’भी जाएंगे। इसके बाद वह आशा कार्यकर्ताओं, किसानों से मुलाकात करेंगे। इसके अलावा वह वडेली, छोटा उदेपुर में आम लोगों संबोधित भी करेंगे। वह ग्यारह अक्तूबर को दाहोद में अनुसूचित जनजाति के छात्रों के साथ बैठक करेंगे। दाहोद में वह कबीर मंदिर भी देखने जाएंगे। गांधी इसके बाद दिल्ली लौट जाएंगे।