आज देश भर में करवाचौथ का त्यौहार मनाया जा रहा है. हर विवाहिता महिला अपने पति की लम्बी उम्र की कामना करते हुए दिन भर निर्जला व्रत रखती है, लेकिन देश की कुछ वीरांगना ऐसी भी हैं जो अपने सुहाग के साथ देश के उन सभी करोड़ों लोगों के लिए अपना कर्तव्य निभा रहीं हैं.

इंदौर के बीएसएफ कैम्प में देश भर के कई जगहों से ट्रेनिंग लेने आईं महिलाएं कई वर्षों से अपने घर से दूर रहकर इस करवा चौथ के उपवास को रखती हैं.

बीएसएफ की इन महिला जवानों ने अपने परिवार और अपने जीवन साथी से बढ़कर देश के करोड़ों लोगो के परिवार के बारे में सोचा है. अपनी खुशी की क़ुरबानी देकर सभी की रक्षा करना इन वीरांगनाओं ने अपना फर्ज समझा.

पंजाब से आईं अमरजीत कौर शादी के बाद से ही बीएसएफ के इंदौर ट्रेनिंग सेंटर में हैं और 4 साल से घर नहीं जा पाई हैं. उनके पति भी सुखराज सिंह, जो कश्मीर के 6RR में हैं, दोनों पति-पत्नी देश की रक्षा के लिए तैनात हैं, लेकिन दोनों ने अपने फर्ज को समझा और करवा चौथ में केवल वीडियो कॉल करके अपना उपवास खोल लेती हैं.

लेकिन उनका मानना है कि परिवार से बड़ा देश है और देश के सभी परिवार में यह त्यौहार तब मनाए जाते हैं, जब देश की सीमा को सुरक्षित रखा जाता है.