इस्लामाबाद। पनामा पेपर लीक मामले में पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के दामाद मोहम्मद सफदर को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने बेनजीर अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया। शरीफ की बेटी मरियम नवाज को हवाई अड्डे से जाने दिया गया क्योंकि उनके खिलाफ जमानती वारंट था जबकि सफदर के खिलाफ गैर जमानती वारंट था। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने पहले ही नैशनल एसैंबली सचिव को गिरफ्तार करने को लेकर अवगत करा दिया था।

मरियम नवाज तथा उनके पति सफदर कतर एयरवेज से रविवार देर रात करीब एक बजकर 20 मिनट पर बेनजीर हवाई अड्डे पर पहुंचे थे जहां पर उन दोनों की अगुवाई करने के लिए पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के कई नेता मौजूद थे। हवाई अड्डे पर मौजूद राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो के छह सदस्यीय टीम ने  सफदर को गिरफ्तार किया क्योंकि ब्यूरो ने पहले ही उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर रखा है।

लंदन संपत्‍तियों से संबंधित मामले की सुनवाई के लिए  नवाज की बेटी मरियम नवाज अपने पति के साथ पाकिस्‍तान लौट रही थी। मरियम के भाई हसन और हुसैन पाकिस्‍तान नहीं आए हैं, वे दोनों लंदन में ही हैं। बता दें कि मरियम अपने भाइयों के साथ लंदन में कैंसर पीड़िता मां कुलसुम नवाज की देखरेख कर रहीं थीं। 2 अक्तूबर को एनएबी अदालत ने भ्रष्टाचार के आरोपों पर शरीफ के अभियोग को 9 अक्तूबर तक स्थगित कर दिया था।

कोर्ट ने शरीफ के तीनों बच्‍चों व दामाद के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया था। शरीफ और उनके बच्‍चे- हसन, हुसैन व मरियम, उनके पति कैप्‍टन सफदर को सुनवाई के लिए 9 अक्तूबर को कोर्ट में पेश होना है। 3 अक्तूबर को सत्‍तारूढ़ पाकिस्‍तान मुस्‍लिम लीग नवाज के अध्‍यक्ष के तौर पर नवाज शरीफ को फिर से चुना गया। डॉन के अनुसार पीएमएल-एन नेता डॉ. तारिक फजल चौधरी ने पाकिस्‍तान के चुनाव आयोग के पास पार्टी अध्‍यक्ष के लिए शरीफ के कागजातों को सबमिट किया था और इस पद के लिए पार्टी से कोई प्रतिद्वंद्वी नहीं था।

 मरियम नवाज व उनके पति रिटायर कैप्‍टन मुहम्‍मद सफदर सोमवार को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) अदालत पहुंचे जहां सुनवाई के बाद उन्‍हें जमानत दे दी गई। मरियम व उनके पति कैप्‍टन सफदर को यहां पहुंचते ही एनएबी ने अपने हिरासत में ले लिया। डॉन के अनुसार हथियार से लैस वाहन में कैप्‍टन सफदर को अदालत लाया गया था। सुनवाई के दौरान, पीएमएल-एन नेता डॉक्‍टर तारिक फजल चौधरी ने मरियम की ओर से 5 मिलियन पाकिस्‍तानी मुद्रा के जमानती पत्र जमा किया। मरियम को प्रासंगिक विवरण के साथ एनएबी संदर्भ की एक कॉपी दी गई।