राष्ट्रपति के हाथों नई दिल्ली में कलेक्टर संकेत भोंडवे ने पुरस्कार प्राप्त किए

 

भोपाल। जब मन कुछ कर दिखाने और लोगों की सेवा करने का भाव होता है तो कहते है बड़ी से बड़ी मुश्किल आसान हो जाती है। जी हां , ऐसा ही कुछ अलग काम करने के लिए हमेशा चर्चित रहने वाले आईएएस उज्जैन कलेक्टर संकेत भोंडवे ने  उज्जैन जिले में विगत एक  वर्ष के  समय में करके दिखाया है। जिसकी चर्चा इन दिनों प्रशासनिक गलियारों में जोरों पर  है। 
जानकारी के अनुसार उज्जैन कलेक्टर संकेत भोंडवे ने अपने एक वर्ष के कार्यकाल में उन्होंने जिले के वरिष्ठ नागरिकों के लिए कुछ ऐसे काम किए है। जिसके कारण आज जिले को 2 को राष्ट्रीय पुरस्कार मिले है। जैसे उन्होंने जिनमें 60 वर्ष से अधिक आयु के 39498 व्यक्तियों को 1 करोड़  35 लाख रूपए की पेंशन वितरण, राष्ट्रीय वयोश्री योजना अंतर्गत सहायक उपकरण वितरण कार्यक्रम का सफलतापूर्वक आयोजन कर 2150  वरिष्ठ नागरिकों को  छड़ी, व्हीलचैयर, वैसाखी, श्रवण यंत्र इत्यादी  का वितरण किया गया है।
इतना ही नहीं  मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के अंतर्गत उज्जैन जिले से अब तक 47 यात्राओं में 11920 व्यक्तियों को वैष्णो देवी, काशी,जगन्नाथपुरी, रामेश्वरम, तिरुपति, द्वारका की यात्रा कराई गई है। साथ ही उज्जैन जिला स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत ओडीएफ घोषित किया गया है। स्वच्छ भारत मिशन में 11851 एसे परिवार संज्ञान में आए जिनमें परिवार का  मुखिया 60  वर्षसे अधिक  आयु का था । इन मुख्य परिवारों में पारिवारिक सदस्य नहीं होने के कारण अथवा वृद्ध के परिवार में  वयस्क  सदस्य नहीं होने के कारण ऐसे वृद्ध व्यक्तियों के लिए उज्जैन जिले की जिला  पंचायत एवं प्रशासन द्वारा विशेष सहयोग अभियान चलाकर पक्के शौचालय निर्मित किये गये तथा शत प्रतिशत वरिष्ठ नागरिकों के आधार पंजीयन में उज्जैन जिला अव्वल रहा है। जिले में 80 वर्ष से अधिक आयु वाले 6558 हितग्राहियों  को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन अंतर्गत   पेंशन प्रदान की जा रही है ।
इन्ही कामों के चलते आज सोमवार को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में राष्ट्रपति  रामनाथ कोविन्द के हाथों कलेक्टर संकेत भोंडवे ने यह पुरस्कार प्राप्त किए।  इस अवसर पर केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री  थावरचंद गेहलोत, जिला पंचायत अध्यक्ष  महेश परमार, नागदा नगर पालिका अध्यक्ष, सीईओ जिला पंचायत  संदीप जीआर, मुख्य नगर पालिका अधिकारी नागदा भी उपस्थित थे।