उकसावे के आरोप में 3 के खिलाफ  विभागीय जांच प्रारंभ
कोरबा
। संयुक्त क्षेत्र के उद्धयम भारत एल्युमीनियम कम्पनी बालको प्रबंधन ने कास्ट हाउस-3 में कार्यरत वामन इंजीनियरिंग के कर्मचारियों की एल्यूमिनियम एम्प्लाइज यूनियन एटक के बैनर तले जारी हड़ताल को अवैधानिक बताकर 10 ऑपरेटर बर्खास्त कर दिए हैं। शेष 30 को बर्खास्त करने की प्रक्रिया जारी है। वामन इंजीनियरिंग ने 21 ऑपरेटर अपने दूसरे साइट्स से लाए हैं। ये ऑपरेटर संयंत्र को सुचारू गति से चला रहे हैं।
जानकारी के अनुसार प्रबन्धन ने कथित अवैधानिक हड़ताल को उकसाने के आरोप में एटक नेता नरसिम्हा राव, धर्मेंद और एस. के. सिंह के खिलाफ  विभागीय जांच प्रारंभ कर दी है। नरसिम्हा राव के खिलाफ  प्राथमिकी दर्ज की जा चुकी है। जांच में अवैधानिक हड़ताल उकसाने का आरोप साबित होने पर नरसिम्हा राव, धर्मेंद और एस. के. सिंह बर्खास्त कर दिए जाएंगे।    
प्रबन्धन के अनुसार बालको में कार्यरत ठेका कंपनी श्री महालक्ष्मी में कार्यरत 66 तकनीशियनों के आई. टी. आई. सर्टिफिकेट जाली पाए गए हैं। बालको प्रबंधन ने इनके खिलाफ  प्राथमिकी दर्ज कराई है। बालको के उप प्रबंधक दीपक विश्वकर्मा ने दस मजदूरों की बर्खास्तगी और जाली सर्टिफिकेट मामले में बालकोनगर पुलिस थाना में रिपोर्ट की पुष्टि की है। जाली सर्टिफिकेट रखने के आरोपी तकनीशियनों के खिलाफ  जांच उपरांत उन्हें बर्खास्त करने की प्रक्रिया जारी है। उल्लेखनीय है कि वामन इंजीनियरिंग के कास्ट हाउस 3 के ठेका मजदूर परसाभांठा चौक में  6 अक्टूबर से काम बन्द हड़ताल पर हैं। उनका आरोप है कि गत तीन वर्षों से उनका पी एफ  औऱ ई एस आई की राशि ठेका कम्पनी ने जमा नही किया है। उन्होंने प्रबंधन पर ठेका कम्पनी के अवैध कृत्य को प्रश्रय देने का भी आरोप लगाकर बालकोनगर थाना पुलिस से एफ आई आर दर्ज करने की लिखित मांग की है।