अलाइड डेमोक्रटिक फोर्सेस से संबद्ध युगांडा के विद्रोहियों ने पूर्वी कांगो में कई हमले किए. जिनमें संयुक्त राष्ट्र के दो तंजानियाई शांतिदूतों की हत्या कर दी गई जबकि 18 अन्य लोग घायल हो गये हैं. संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने बताया कि संरा महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने सोमवार को किये गये इन हमलों की कड़ी निंदा की है.

कांगो प्रशासन से इन घटनाओं की तेजी से जांच और अपराधियों को न्याय के कटघरे में लाने की अपील की. प्रवक्ता के मुताबिक संरा प्रमुख ने कहा है कि शांतिरक्षकों को निशाना बनाकर किए गए हमले अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत युद्ध अपराध की श्रेणी में आ सकते हैं.

इससे पहले दुजारिक ने कहा था कि हमले में घायल शांतिरक्षकों को गोमा ले जाया गया है. इसके अलावा मिशन ने अभियान जारी रहे इसलिए युद्धक हेलीकॉप्टरों के साथ सेना की तैनाती की है.

संरा के कांगो अभियान के प्रवक्ता फ्लोरेंस मार्चल ने इससे पहले कहा था कि संदिग्ध विद्रोहियों ने सोमवार को तड़के संरा के मामुनडिओमा स्थित बेस पर हमला किया था.