नई दिल्ली
सरकारी तेल कंपनियों की सख्त चेतावनी के बाद पेट्रोल पंप डीलरों ने शुक्रवार को प्रस्तावित एक दिन की हड़ताल को वापस ले लिया है। तेल कंपनियों ने हड़ताल को लेकर सख्त चेतावनी दी थी जिसमें कॉन्ट्रैक्ट को रद्द करना भी शामिल था।

पेट्रोल पंप डीलरों के तमाम संगठनों ने नई मार्केटिंग गाइडलाइन्स के खिलाफ 13 अक्टूबर को 24 घंटे की हड़ताल का ऐलान किया था। नई मार्केटिंग डिसिप्लिन गाइडलाइन्स में घटतौली समेत कई दूसरी गड़बड़ियों को लेकर कड़े जुर्माने का प्रावधान किया गया है। अगर ग्राहकों को कम मात्रा में पेट्रोल-डीलज दिए जा रहे हों, कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन नहीं दिए जा रहे हों, पेट्रोल पंपों पर साफ शौचालय न हों या बिना अनुमति के स्वचालित पंपों को मैन्युअल मोड में चलाया जा रहा हो तो पेट्रोल पंप संचालकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई और बड़े जुर्माने लगाए जाएंगे।

प्रस्तावित हड़ताल को वापस लिए जाने की जानकारी देते हुए ऑल इंडिया पेट्रोलियम डीलर्स असोसिएशन के अध्यक्ष अजय बंसल ने कहा, 'तीनों तेल कंपनियों के मार्केटिंग डायरेक्टर ने हमसे हड़ताल पर न जाने की अपील की थी, इसलिए हम उनकी अपील को देखते हुए हड़ताल वापस ले रहे हैं।' हालांकि यूनाइटेड पेट्रोलियम फ्रंट ने 27 अक्टूबर से खरीद-बिक्री पर अनिश्चितकालीन रोक लगाने की भी धमकी दी है।