मुरैना के बहुचर्चित पुलिस हेडकांस्टेबल हत्याकांड के आरोपी को ​जिला न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. मृतक अतिबल सिंह चौहान की हत्या के आरोप में पुलिस ने मोहसिन खान को 25 नवंबर 2015 को गिरफ्तार किया था. आरोपी ने ड्यूटी पर तैनात अतिबल सिंह को जानबूझ कर ट्रक के नीचे कुचलकर उसकी हत्या कर दी थी.

जानकारी के अनुसार 25 नबम्बर 2015 को ग्वालियर की पुरानी छावनी पर ट्रक ड्राइवर मोहसिन खान किसी को टक्कर मारकर भाग रहा था. अपराध कर ट्रक लेकर भाग रहे मोहसिन के बारे में वायरलेस पर सूचना प्रसारित की गई. खबर वायरलेस के जरिये सिविल लाइन थाने में ड्यूटी कर रहे अतिबल सिंह चौहान और सुधीर शाक्य को भी सुनाई दी. तब बैरियर एनएच तीन पर अतिबल सिंह और शाक्य ने उसे रोकने का प्रयास किया, लेकिन उक्त ट्रक ड्रायवर चकमा देकर निकल गया.

तब दोनों ने बाइक से ट्रक का पीछा किया और उसे सेल्स टैक्स नाके पर घेर लिया. य​हां दोनों ने ट्रक ड्रायवर को पकड़ने का प्रयास किया, लेकिन आरोपी ड्राइवर ने ट्रक चला दिया और हेडकांस्टेबल अतिबंल सिंह को कुचल दिया. इससे अतिबल सिंह की मौके पर ही मौत हो गई थी. घटना के बाद सीएम ने शहीद के परिजनों को भोपाल बुलाकर शहीद का दर्जा भी दिया था.