मध्य प्रदेश पर्यटन विभाग का लोकप्रिय जल महोत्सव एक बार फिर खंडवा के हनुवंतिया में होने को तैयार है. पिछले दो वर्षों से लगातार आयोजित जल महोत्सव के सफल आयोजन पर मप्र पर्यटन विभाग और गुजरात की इवेंट कम्पनी दोनों ही अपनी सफलता बताते रहे हैं. लेकिन इस बार यहां की सड़कों की हालत खराब है, जिसका जल महोत्सव पर काफी असर पड़ सकता है.

दरअसल, खंडवा स्थित हनुवंतिया को जल महोत्सव के लिए एक बार फिर से जोर-शोर से तैयार किया जा रहा है. देश-विदेश से पर्यटकों को लुभाने के लिए करोड़ों रु का विज्ञापन पर खर्च किया जा रहा है. इसमे पर्यटकों को हनुवंतिया आने के लिए लुभाया जा रहा है, क्योंकि इस बार जल महोत्सव एक महीने का नही बल्कि 80 दिन का होने जा रहा है.

15 अक्टूबर से 2 जनवरी तक चलने वाले इस तीसरे जल महोत्सव की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई है. इस बार भी पर्यटकों के लिए स्विस कॉटेज,वाटर गेम्स, एडवेंचर गेम्स, हॉट एयर बैलून जैसे गेमों की व्यवस्था की गई है.

हालाकि यह सुगबुगाहट है कि जल महोत्सव की तैयारियों आधी-अधूरी हैं. जल महोत्सव के लिए इंदिरा सागर बाँध में पर्याप्त जल नही है, जिस कारण वाटर लेबल रेम्प से काफी दूर चला गया है. इससे सैलानियों को यहाँ वाटर गेम्स में थोड़ी कठिनाई जरूर हो सकती है. सवाल यह है कि जल महोत्सव में मात्र तीन दिन ही बचे हैं. ऐसे में इन सड़कों की ऐसी हालत लापरवाही की दास्तां खुद बयां कर रही है.