अब तक नहीं सुधरी व्यवस्था
रायगढ़।
जिले के सरकारी शराब दुकानों की व्यवस्था अभी तक नहीं सुधरी। आबकारी विभाग की घोषणा के मुताबिक खरीदी गई शराब के एवज में बिलिंग की व्यवस्था अभी भी शुरू नहीं हुई और न ही अधिकांश शराब दुकानों में लोगों केा उनके इच्छित ब्रांड का शराब मिल रहा है जबकि कई दुकानों में विभिन्न ब्रांड की शराब का स्टाक डंप पड़ा है।
रायगढ़ जिले में आबकारी विभाग द्वारा चलाये जा रहे देशी और विदेशी शराब दुकानों में बदइंतजामी इन शराब दुकानों के शुरू होने के छै महीने बाद भी बनी हुई है। खुद विभाग की घोषणा के मुताबिक विदेशी शराब की खरीदी पर बिलिंग की शुरूवात बीते 18 सितम्बर से और देशी शराब के लिये 01 अक्टूबर से शुरू हो जानी थी, लेकिन अभी तक बिलिंग शुरू नहीं की गई है। बताया जाता है कि प्राय: सभी शराब दुकानों में बारकोटिंग के लिये शराब के काफी बड़े स्टाक को रोक कर रखा गया है ताकि बारकोटिंग के बाद बिलिंग शुरू की जा सके लेकिन पिछले एक पखवाड़े से भी ज्यादा समय से चल रही बारकोटिंग की प्रक्रिया पूरी नहीं हो पा रही हैं। बताया जा रहा है कि बारकोटिंग के लिये इस्तेमाल किये जा रहे तकनीकी उपकरण ठीक से काम नहीं कर रहे हैं इसलिये बारकोटिंग की गति बहुत धीमी पड़ गई है और इस स्थिति का खामियाजा पब्लिक को भुगतना पड़ रहा है उसे न तो इच्छित ब्रांड की शराब मिल रही है और न खरीदे गये शराब के एवज में बिल दिया जा रहा है नतीजे में सरकारी दुकानों में शराब का बड़ा जखीरा डंप पड़ा हुआ है नतीजे में हजारों ग्राहक इच्छित ब्रांड की शराब नहीं मिलने के कारण रोजाना शराब दुकानों से बैरंग वापस लौट रहे हैं या फिर जिस भी ब्रांड का शराब उपलब्ध रहता है मजबूरी में वही खरीद रहे हैं।