नई दिल्लीः राहुल गांधी के आरएसएस को ‘महिला विरोधी’ कहने वाले बयान को काउंटर करने के लिए बीजेपी ने पार्टी की वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज को आगे कर दिया है। इसके तहत सुषमा 14 अक्टूबर को गुजरात जाएंगी। यहां राज्यभर की महिलाओं से सीधे सम्पर्क और चर्चा करेंगी।

गुजरात प्रदेश बीजेपी प्रवक्ता भरत भाई पांड्या ने बताया, ‘सुषमा जी का राज्य की महिलाओं को टाउनहॉल संबोधन होगा। उनका संबोधन अहमदाबाद में होगा और यहां से वे 25 से 30 स्थानों पर महिलाओं के समूह से सीधे लाइव संवाद करेंगी।’ उन्होंने बताया कि सुषमा स्वराज टाउन हाल संबोधन के जरिए एक लाख से अधिक महिलाओं को संबोधित करेंगी। वे महिलाओं के सवालों का जवाब भी देंगी।

पांड्या ने कहा कि 'हमने इस कार्यक्रम के लिए एक टोल फ्री नंबर भी जारी किया है। इसके अलावा सुषमा जी से संवाद के लिए महिलाएं पहले भी सोशल मीडिया पर हमारे सम्पर्क पर प्रश्न छोड़ सकती हैं।'

बता दें, नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद यह पहला अवसर होगा जब गुजरात में बीजेपी विधानसभा चुनाव का सामना कर रही है। ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राज्य में महिलाओं को अपनी पार्टी से जोड़ने के लिए कई तरह की पहल कर रहे हैं। कुछ दिन पहले ही उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को महिला विरोधी बताया था। राहुल ने पूछा था कि क्या किसी ने आरएसएस की शाखा में महिलाओं को निक्कर पहनकर जाते देखा है।

गुजरात प्रदेश बीजेपी प्रवक्ता ने बताया कि 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा ने राज्य में महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए अनेक पहल की। भाजपा संगठन में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण है।' स्थानीय निकायों में भी महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की गई है।

राज्य सरकार की नौकरियों और पुलिस बलों में भी महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना के अलावा आवास सुविधा भी महिलाओं के नाम से ही प्रदान की जाती है। राज्य सरकार महिला केंद्रीत 132 योजनाएं चला रही है।