अहमदाबाद: गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री और हाल ही में कांग्रेस से अलग हुए शंकर सिंह वाघेला की आज अचानक जुबान फिसल गई। जुबान भी ऐसी फिसली की वहां मौजूद सभी लोग काफी देर तक ठहाका लगाते रहे। दरअसल वघेला पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को ममता कुलकर्णी कह गए। वाघेला गुजरात में कांग्रेस और भाजपा से इतर एक तीसरे मोर्चे की जीत की संभावनाओं पर बोल रहे थे। अचनाक उनके मुंह से निकल गया क्या ममता कुलकर्णी गईं तो क्या भाजपा या कांग्रेस अथवा सीपीएम के वोट तोड़ने गईं थीं, सब अपने लिए जाते हैं। इस दौरान उन्होंने कहा कि गुजरात की जनता सब जानती है वो पेंडुलम की तरह नहीं है।

वाघेला ने कहा कि वे कांग्रेस से नाखुश थे इसलिए वे भाजपा में गए। लेकिन अब देश की जनता भाजपा से भी मायूस हो चुकी तो क्या अब फिर मुझे कांग्रेस में वापिस जाना चाहिए, क्या तीसरे मोर्चे का विकल्प नहीं होना चाहिए। वहीं भाजपा की बी टीम कहे जाने पर वाघेला ने जवाब दिया कि क्या दिल्ली में आम आदमी पार्टी कांग्रेस की बी टीम है। सब अपने लिए पार्टी छोड़ते हैं न कि वोट तोड़ने के लिए। बीजू पटनायक की पार्टी पहले थी क्या? शिवसेना, मुलायम की पार्टी थी क्या? वहीं उन्होंने कहा कि अगर तीसरा मोर्चा बनता है तो हम लोगों से पूछकर टिकट देंगे, अगर कोई भ्रष्ट हुआ तो उसे उम्मीदवार नहीं बनाएंगे। हम जनता के लिए पार्टी बनाएंगे, अपने हितों के लिए नहीं।