पटना. आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने सोमवार को नीतीश कुमार पर निशाना साधा। कहा, "नीतीश प्रधानमंत्री के सामने पटना विश्वविद्यालय को सेंट्रल यूनिवर्सिटी का दर्जा दिलाने के लिए हाथ जोड़कर गिड़गिड़ा रहे थे। नरेंद्र मोदी के सामने गिड़गिड़ाकर नीतीश ने अपनी पूरी इज्जत मिट्टी में मिला दी। नीतीश ने बिहार को बदनाम किया है। क्या मिला पीएम के सामने हाथ जोड़कर। मोदी ने पटना विश्वविद्यालय को सेंट्रल यूनिवर्सिटी का दर्जा नहीं दिया।" सात जन्मों तक नहीं करूंगा माफ...

- लालू ने कहा, "बीजेपी जल्द ही नीतीश को धकियाने वाली है। जब नीतीश को बीजेपी हटा देगी और वह हमारे साथ आने की कोशिश करेंगे तो हम उन्हें रिजेक्ट कर देंगे।" 

- "नीतीश को अब सात जन्मों तक माफ नहीं करूंगा, उन्हें साथ नहीं रखूंगा। अब नीतीश को फिर से मेरे पास एन्ट्री नहीं मिलेगी। नीतीश ने अपनी पहचान खो दी है।"

- उधर, जब पत्रकारों ने नीतीश से लालू यादव के बयान के बारे में पूछा तो नीतीश ने कहा, "मैं इस तरह की बकवास का जवाब नहीं देता।"

नीतीश ने मोदी से क्या अपील की थी?

- बता दें कि शनिवार को पटना विश्वविद्यालय का शताब्दी समारोह था। उस प्रोग्राम में नरेंद्र मोदी भी शामिल हुए थे।

- मंच से स्पीच देते समय नीतीश ने पीएम से कहा था कि आपसे हाथ जोड़कर विनती है। पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दे दीजिए। बिहार के लोग आने वाले 100 साल तक आपको याद रखेंगे।

- इसके जवाब में नरेंद्र मोदी ने पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय यूनिवर्सिटी का दर्जा तो नहीं दिया, लेकिन देश के टॉप 10 सरकारी यूनिवर्सिटी में शामिल होने के लिए प्रतियोगिता में भाग लेने का न्योता जरूर दिया। 

- पीएम ने कहा कि केंद्र सरकार देश के टॉप 10 सरकारी और प्राइवेट यूनिवर्सिटी को वर्ल्ड लेवल का बनाने की योजना पर काम कर रही है। इसके लिए 10 हजार करोड़ रुपए दिए जाएंगे।