19 साल की लड़की से रेप केस में गिरफ्तार हुए जैन मुनि शांति सागर को लेकर नए-नए खुलासे हो रहे हैं. जांच यह सामने आया कि शांति सागर राजस्थान के कोटा शहर में चाय का ठेला लगाता था. यही नहीं, जब दीक्षा लेने ले बाद वह वापस कोटा आया था तो उसकी आपत्तिजनक गतिविधियों को लेकर विवाद भी हुआ था.

 

केले खाकर बिता रहा दिन...

 

दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के मुताबिक, जैन मुनि शांति सागर जेल में केले खाकर दिन बिता रहा है. वह सलाखों के पीछे तप की मुद्रा में बैठा रहता है और जेल में जाने के बाद वह केवल तीन घंटे ही सोया है.

 

बेहोश होकर गिरी लड़की तब हुआ रेप का खुलासा...

 

पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा ने बताया कि लड़की रेप के बाद बेहद डरी हुई थी. उसे शरीर और पेट में दर्द के चलते माता-पिता डॉक्टर के पास ले गए. यहां डॉक्टर ने उन्हें लड़की के साथ हुई ज्यादती के बारे में पुलिस को बताने कहा. इसके बावजूद वो पुलिस के पास नहीं गए. इसके बाद एक दिन कॉलेज में लड़की बेहोश होकर गिर पड़ी तो घटना पर माता-पिता को यकीन हुआ और उन्होंने शिकायत दर्ज कराई.