जीएसटी के तहत 22 उत्‍पादों का रेट कम करने के बाद सरकार और भी उत्‍पादों को सस्‍ता कर सकती है. राजस्‍व सचिव हंसमुख अधिया ने सोमवार को इस तरफ इशारा किया है. उन्‍होंने कहा कि जीएसटी परिषद कई उत्‍पादों को 28 फीसदी के स्‍लैब से निकाल सकती है. कम टैक्‍स स्‍लैब में आने के बाद ये उत्‍पाद सस्‍ते हो जाएंगे.

 

हंसमुख अधिया ने दिए संकेत

 

सोमवार को राजस्‍व सचिव हंसमुख अधिया ने कहा कि कुछ उत्‍पादों को 28 फीसदी टैक्‍स स्‍लैब से नीचे लाने पर विचार किया जा रहा है. केंद्रीय वित्‍त मंत्री अरुण जेटली भी इससे पहले कुछ उत्‍पादों का जीएसटी रेट घटाने को लेकर संकेत दे चुके हैं. अगर सरकार जीएसटी टैक्‍स स्‍लैब घटाएगी, तो आपको होटल में खाना खाने समेत अन्‍य कई सर्विसेज और उत्‍पादों के मामले में राहत मिल सकती है.

 

सस्‍ता होगा होटल में खाना

 

वित्‍त मंत्री अरुण जेटली भी यह संकेत दे चुके हैं कि वह एसी होटलों पर लगने वाले 18 फीसदी जीएसटी रेट को कम कर सकते हैं. अगर ऐसा होता है, तो आपको होटल में खाना काफी सस्‍ता पड़ सकता है. सरकार एसी रेस्‍तरां पर लगने वाले जीएसटी रेट को 12 फीसदी कर सकती है.

 

घर खरीदना हो सकता है सस्‍ता

 

वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने पिछले दिनों यह भी संकेत दिया था कि वह रियल इस्‍टेट को जीएसटी के दायरे में ला सकते हैं. अगर ऐसा होता है, तो आपको घर खरीदने के दौरान राहत मिल सकती है. जेटली ने कहा कि रियल इस्‍टेट के जीएसटी के दायरे में आने से लोगों को कई तरह के टैक्‍स भरने से राहत मिलेगी. इसके बाद उन्‍हें सिर्फ एक ही टैक्‍स भरना होगा.

 

कालेधन पर कसेगी लगाम

 

जेटली ने कहा कि रियल इस्‍टेट के जरिये ही कालेधन को बड़े स्‍तर पर ठिकाने लगाया जाता है. ऐसे में अगर इसे भी जीएसटी के दायरे में लाया जाएगा, तो इस पर नियंत्रण लगाया जा सकेगा.

 

ऐसे उत्‍पादों का कम हो सकता है रेट

 

हंसमुख अधिया ने कहा है कि सरकार 28 फीसदी में शामिल कई प्रोडक्‍ट्स का जीएसटी रेट कम कर सकती है. अगर ऐसा होता है, तो सरकार का ध्‍यान उन उत्‍पादों को नीचे लाने पर रहेगा, जो आम लोगों से सीधे तौर पर जुड़े हैं.