भोपाल.नवबहार सब्जी मंडी के पीछे बने गोदाम पर मंगलवार दोपहर दो बजे एक स्कार्पियों में छह से ज्यादा इंस्पेक्टर संयुक्त कलेक्टर के साथ पहुंचते हैं। गोदाम में शटर लगा हुआ है। संयुक्त कलेक्टर श्वेता पवार पूछती हैं कि गोदाम में क्या रखा है तो आलू-प्याज का कारोबार करने वाले गोदाम मालिक विजय आनंद जवाब देते हैं कि सब्जी भाजी है। 

- शक होने पर भीतर जाकर जांच की जाती है तो 27 टोकरियाें में मावा भरा मिलता है। पूछताछ के बाद अफसरों ने मावे को जब्त करने की कार्रवाई शुरू की।

- संयुक्त कलेक्टर श्वेता पवार का कहना है कि करीब 8 क्विंटल मावा जब्त किया गया है। इसकी कीमत डेढ़ लाख से ज्यादा है।

- यह मावा ग्वालियर के मोर बाजार और भिंड से मंगाया गया था। इसे भोपाल सहित होशंगाबाद, इटारसी, पिपरिया में खपाया जाना था।

बसों में रखने से चूका तो पकड़ा गया माल

- सब्जी मंडी में सोमवार को ही गणेश ट्रांसपोर्ट के गोदाम में मावा आ गया था लेकिन विजय इसे बसों में रखने से चूक गया और माल पकड़ा गया। उसने बताया कि मावा सोमवार को आया था, लेकिन इसे कहां-कहां सप्लाई करना है, इसकी सूचना नहीं आई थी।

- इधर, अफसरों की मानें तो मावे की बोरियों में शहर और दुकानों का नाम कोडवर्ड में लिखा था। कुछ बोरियों में होशंगाबाद में अमन, लोकेश, राकेश व डमरू वालों को, इटारसी में एसओएस तथा पिपरिया में बीओएस नाम वाली दुकान को सप्लाई करना लिखा है विजय ने खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को बताया कि वह तो केवल एजेंट है वो सिर्फ यहां माल उतारता है और अगली बसों से इसे संबंधित जिलों में सप्लाई कर देता है। इसके बदले में उसे 40 रुपये प्रति बंडल मिलते हैं।