समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान ने बुधवार को रामपुर में एक बार फिर ताजमहल को लेकर बयान दिया है. आजम के अनुसार ताजमहल दुनिया का 7वां अजूबा है, इसीलिए बचा हुआ है.

 

उन्होंने कहा कि ताजमहल को डायनामाइट से उड़ाना लगभग तय है. आजम ने कहा कि जब मंदिर के नाम पर बाबरी मस्जिद गिर सकती है तो हिन्दुस्तान की कोई तारीखी ईबादतगाह नहीं बच सकती.

 

इससे पहले आजम खान ने कहा था कि गुलामी की उन तमाम निशानियों को मिटा देना चाहिए. जिससे कल के शासकों की बू आती हो.

 उन्होंने कहा था, "मैंने तो पहले ही कहा था कि अकेले ताजमहल ही क्यों पार्लियामेंट, राष्ट्रपति भवन, कुतुबमीनार, दिल्ली का लाल किला ये सब गुलामी की निशानियां हैं. हम बादशाह से अपील करते हैं और हमने छोटे बादशाह से तो कहा है कि चलो आप आगे, हम आपके साथ चलेंगे."खान ने आगे कहा, "पहला फावड़ा आपका होगा, दूसरा हमारा होगा. हिम्मत तो करें. आजम ने कहा कि मैं समझता हूं कि कहने के बाद कद़म पीछे हटा लेना राजनीतिक नपुंसकता है. जो लोग इसे गुलामी की निशानी कह रहे हैं, उनका तो पूरे देश पर राज है, क़ब्ज़ा है."