नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने शनिवार को राहुल गांधी की ट्विटर पर बढ़ रही पॉपुलैरिटी पर तंज कसा। उन्होंने ट्वीट कर कहा- "क्या राहुल गांधी रशिया, इंडोनेशिया और कजाखस्तान से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं? स्मृति ने यह बात एक न्यूज एजेंसी के दावे के हवाले से की, जिसमें कहा गया कि यह ऑर्टिफिशियल ग्रोथ है। इसके लिए बोट्स नाम के ऑटोमेटेड सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल हुुुआ। दरअसल, कुछ दिनों से राहुल के ट्विटर हैंडल 'OfficeofRG' पर रिट्वीट्स की बढ़ती तादाद पर हर तरफ चर्चा हो रही है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि कांग्रेस वाइस प्रेसिडेंट अब सोशल मीडिया का हर मुद्दे पर बेहतर तरीके से इस्तेमाल कर रहे हैं।

डोनाल्ड ट्रम्प के ट्वीट को किया था रिट्वीट

- न्यूज एजेंसी एएनआई ने इसके लिए बकायदा उन सभी ट्वीट का हवाला दिया जिन्हें देश के बाहर से रिट्वीट किया गया था।

- 15 अक्टूबर को राहुल ने अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प के एक ट्वीट को रिट्वीट किया था। इस पर उन्होंने लिखा था- "मोदी जी जल्दी करें, ऐसा लगता है कि प्रेसिडेंट ट्रम्प को एक बार फिर से गले लगाना होगा।" यह ट्वीट फौरन 20 हजार बार रिट्वीट हो गया और अभी इसे 30 हजार बार रिट्वीट किया जा चुका है।

इन ट्वीट पर क्या है एजेंसी का एनालिसिस?

- एजेंसी ने एनालिसिस कर बताया कि राहुल गांधी के ट्वीट बोट्स नाम के एक सॉफ्टवेयर के जरिए रूस, कजाख या इंडोनेशिया से रिट्वीट किए गए थे। इन ट्विटर एकाउंट्स से आगे पता चला कि फॉलोअर लिस्ट में 10 यूजर थे और राहुल गांधी के उन ट्वीट को रिट्वीट किया गया था जिनमें उन्होंने दुनिया से जुड़े मुद्दों को उठाया था।

बदल सकता है राहुल गांधी के ट्विटर हैंडल का नाम

- ऐसा कहा जा रहा है कि राहुल गांधी कांग्रेस प्रेसिडेंट बन जाने के बाद अपना ट्विटर हैंडल @OfficeOfRG से बदलकर @rahulgandhi कर सकते हैं।

 

कांग्रेस ने इस रिपोर्ट पर सवाल उठाए

- कांग्रेस की डिजिटल टीम की कमान संभाल रहीं दिव्या स्पंदना उर्फ राम्या ने इस रिपोर्ट पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा है कि यह रिपोर्ट पूरी तरह से तथ्य से परे है।