नई दिल्‍ली : भारत-न्यूज़ीलैंड सीरीज़ से पहले कप्तान विराट कोहली ने टीम के बिना आराम किये लगातार खेलने को लेकर सवाल उठाए. टीम में लगातार हो रहे बदलाव और विकल्पों को लेकर भी टीम की रणनीति साफ़ की. इतना ज़रूर कहा कि वर्ल्ड कप के लिए कोर टीम तैयार करने के साथ टीम का फ़ोकस फिर से सीरीज़ में जीत हासिल करने पर ही है. भारत-न्यूज़ीलैंड सीरीज़ शुरू होने से पहले प्रेस कॉन्फ़्रेंस में विराट ने कहा, "हम ज़रूर उन खिलाड़ियों को मौक़ा देना चाहते हैं जो इस स्तर पर प्रदर्शन कर सकते हैं. लेकिन ऐसा भी नहीं है कि हम किसी को वैसे ही मौक़ा दे दें और अनुभव की कमी की वजह से सीरीज़ गंवा दें. एक बैलेंस बनाने की ज़रूरत होती है."

 

रविवार को वानखेड़े स्टेडियम पर होने वाले भारत-न्यूज़ीलैंड सीरीज़ के पहले मैच से पहले अभ्यास के दौरान एमएस धोनी बड़े छक्के लगाते रहे और BCCI ने उनकी तस्वीरें ट्वीटर पर पोस्ट कर दीं. धोनी के ये बड़े छक्के छह साल पहले हुए वर्ल्ड कप के ऐतिहासिक फ़ाइनल की याद ताज़ा कर गए.

 

ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ सबसे ज़्यादा 296 रन बनाने वाले टीम इंडिया के उपकप्तान रोहित शर्मा भरोसा दिलाते हैं कि टीम जीत की लय में अपनी तैयारियों को लेकर ढील नहीं बरत रही. दरअसल इस वक्त सभी डिपार्टमेंट में खिलाड़ियों में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने की होड़ लगी हुई है. कप्तान विराट कोहली कहते हैं कि इस बार भी वो प्रयोग करेंगे लेकिन सीरीज़ जीतना उनकी प्राथमिकता होगी.

 

दोनों टीमों के बीच भारत में अब तक हुई पांचों सीरीज़ में मेज़बान टीम हावी रही. इस दौरान दो बार भारत ने कीवी टीम का व्हाइटवॉश किया. इन पांच सीरीज़ में खेले गए 24 वनडे मैचों में भारत ने 18 जीते और 6 में हार का सामना करना पड़ा. 2016 में कीवी टीम भारत आई तो उसे बेशक हार का सामना करना पड़ा. लेकिन नतीजा बेहद नज़दीकी रहा. तब भारत ने कीवी टीम को 3-2 से हराया. इस बार अनुभवी रॉस टेलर, टॉम लैथम और केन विलियम्सन जैसे बल्‍लेबाज अपनी टीम की रीढ़ नज़र आते हैं. रोहित जैसे बल्लेबाज़ भी ट्रेंट बोल्ट जैसे तेज़ गेंदबाज़ से भारतीय टीम को सावधान रहने की सलाह दे रहे हैं तो कप्तान विराट मानते हैं कि कीवी टीम का साढ़े चार महीने आराम के बाद मैच के लिए उतरना उनके हक़ में काम कर सकता है.

 

विराट कोहली ने इशारों ही इशारों में ज़रूर बताया कि टीम इंडिया के खिलाड़ियों का लगातार खेलना फ़िक्र की वजह बन सकता है. विराट कहते हैं, "आप न्यूज़ीलैंड को देखें तो उन्होंने चैंपियंस ट्रॉफ़ी के बाद कोई टूर्नामेंट नहीं खेला है. उन्हें अच्छा आराम मिला है. ये बड़े टूर्नामेंट में जीत-हार की वजह बन सकता है. हम लगातार खेलते रहे हैं और कंसिसटेंटली अच्छा प्रदर्शन करते रहे हैं." वहीं रोहित शर्मा भरोसा दिलाते हैं, "हमने जहां ऑस्ट्रेलियाई सीरीज़ ख़त्म की वहीं से खेलना शुरू करेंगे. हम जीत की लय बरक़रार रखेंगे.''

 

मिशन 2019 वर्ल्ड कप के लिहाज़ से भारतीय टीम अपने सभी विकल्पों को आज़माकर उसे पुख़्ता करने की कोशिश कर रही है. लेकिन आईसीसी रैंकिंग में नंबर 2 पर ख़िसकी टीम इंडिया के फ़ैन्स फिर से इसके बुलंदी पर पहुंचने की उम्मीद लगाए रहेंगे.