अंबाला.पंचकूला में वकीलों की हड़ताल से डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम ​की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत इंसां की पेशी नहीं हो पाई। सोमवार को ज्यूडिशियल कस्टडी खत्म होने के बाद हनीप्रीत और उसकी मददगार सुखदीप कौर की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (VC) के जरिए पेशी होनी थी। कोर्ट अब 6 नवंबर को सुनवाई करेगा, तब तक दोनों को अंबाला जेल में रहना होगा। बता दें कि 13 अक्टूबर को हनीप्रीत को कोर्ट ने 10 दिन के लिए जेल भेज दिया था। कोर्ट ने सिक्युरिटी के मद्देनजर आगे की सभी सुनवाई VC से कराने के ऑर्डर दिए थे। दिवाली पर हनी से मिलने जेल पहुंची थी फैमिली...

- फिलहाल, हनीप्रीत और सुखदीप ज्यूडिशियल कस्टडी में हैं। दिवाली से एक दिन पहले हनीप्रीत के फैमिली मेंबर्स उससे मिलने अंबाला जेल पहुंचे थे। जेल में उसे 40 महिला कैदियों से अलग रखा है। उसके साथ सुखदीप कौर भी है।

- सोमवार को पंचकूला में वकीलों की हड़ताल की जानकारी मिलने के बाद सुनवाई नहीं हो सकी। अब अगली सुनवाई (6 नवंबर) तक हनीप्रीत और सुखदीप अंबाला जेल में ही रहेंगी।

पंचकूला में दंगा भड़काने के लिए हुई थी मीटिंग

- पंचकूला में दंगा भड़काने के लिए सिरसा डेरे में 17 अगस्त की रात को मीटिंग हुई थी। इस मीटिंग में 45 सदस्यीय कमेटी के 20 मेंबर मौजूद थे। 

- मीटिंग खुद हनीप्रीत ने ली थी। आदित्य इंसां और गोपाल इंसां इसमें मौजूद थे। 17 अगस्त की रात इन सबकी मोबाइल लोकेशन यहीं की मिली है। 

- इस मीटिंग में ही तय किया गया था कि डेरा चीफ गुरमीत सिंह को कोर्ट साध्वी रेप केस में दोषी करार देती है तो पंचकूला में दंगा कैसे भड़काना है। एसआईटी के मुताबिक, ये बातें हनीप्रीत ने पुलिस पूछताछ में भी मानी है। अब मोबाइल लोकेशन डेरे के अंदर की मिलने से केस को मजबूती मिली है। 

- दरअसल, पुलिस का ऐसा मानना इसलिए है, क्योंकि ये आरोपी भले ही कोर्ट में पुलिस को दिए गए बयानों से पलट जाएं, लेकिन सबकी मोबाइल लोकेशन एक होने से साबित होगा की कमेटी के 45 में से 20 मेंबर 17 अगस्त की रात सिरसा डेरे में ही थे। इन सब बातों का खुलासा दंगों की प्लानिंग में शामिल गोपाल इंसां के बयानों में भी हुआ है।

- कोर्ट ने गोपाल को रिमांड पर भेज दिया है। पंचकूला में दंगा भड़काने के मामले में कई अहम लोगों को पकड़ना अभी बाकी है। इनमें आदित्य इंसां, पवन इंसां और गोबीराम शामिल हैं। इनकी तलाश में एसआईटी रेड कर रही है। 

- हनीप्रीत और गोपाल से रिमांड के दौरान पूछताछ में पता चला है कि आदित्य और पवन हरियाणा बॉर्डर पर हो सकते हैं, जबकि गोबीराम हिमाचल या एमपी कहीं छिपा हो सकता है।

विपासना इंसां से पूछताछ करने सिरसा जाएगी पुलिस

- पुलिस पूछताछ में तबीयत खराब होने की बात कहकर बच रही विपासना इंसां से पूछताछ के लिए सोमवार को पंचकूला पुलिस सिरसा डेरा सच्चा सौदा जा सकती है। 

- डेरा की मैनेजमेंट मेंबर विपासना इंसां पंचकूला में हुए दंगे की प्लानिंग को लेकर सिरसा में जो मीटिंग हुई थी, उसमें मौजूद थी। ये बात हनीप्रीत, बाबा के करीबी राकेश अरोड़ा और एमएसजी के सीईओ भी कन्फर्म कर चुके हैं। 

- पंचकूला आने के बजाय विपासना इंसां ने पुलिस को अपनी मेडिकल रिपोर्ट भेजी थी। इसमें कहा था कि उसे सांस लेने में दिक्कत हो रही है। अब एसआईटी मेडिकल रिपोर्ट की जांच करेगी।